इटखोरी में पत्रकार के विरुद्ध एक तरफा कार्रवाई की हो रही निंदा, विभिन्न दलों के नेताओं ने उपायुक्त से जांच करवाने की रखी मांग

कोविड 19 के नियमों के अनुपालन कराने में असफल रहे हैं बीडीओ
इटखोरी(चतरा)। कोविड 19 को लेकर सरकार द्वारा जारी नियमों के अनुपालन कराने में इटखोरी बीडीओ अपने प्रखंड के साथ अतिरिक्त प्रभार वाले मयूरहंड प्रखंड में असक्षम साबीत हो रहे हैं। इसका प्रमाण है इटखोरी के पत्रकार आनंद कुमार शर्मा सहित उनके 18 परिजनों पर नामजद व 20 से 22 अज्ञात के विरुद्ध गैर प्रतिबंधित क्षेत्र में विवाह करने को लेकर अनुमंडलाधिकारी द्वारा जारी आदेश के आलोक में आपदा प्रबंधन व महामारी अधिनियम के तहत एक तरफा मामला दर्ज करवाना। ज्ञात हो कि विवाह के दिन शोसल मीडिया पर इटखोरी के माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में विवाह समारोह का एक वीडियो वायरल किया गया था, जिसपर संज्ञान लेते हुए बीडीओ ने मंदिर क्षेत्र से दुर एकांत अपने गांव क्षेत्र में विवाह कर रहे पत्राकर को निशाना बनाकर एक तरफा कार्रवाई की। जबकी वायरल वीडियो मंदिर क्षेत्र में विवाह का था, उसके आधार पर प्रबंधन समिति भी बराबर की दोषी होती है और समिति के पदेन सचीव बीडीओ सह प्रभारी सीओ विजय कुमार ही हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि समान रुप से कार्रवाई क्यों नही की गई। वहीं उसी रात इटखोरी व मयूरहंड में दर्जनभर स्थानों पर विवाह समारोह पुरे तामझाम के साथ आयोजित की गई, जहां भारी संख्या में भीड भी लगी। लेकिन बीडीओ के द्वारा कार्रवाई नही की गई। ऐसे में सवाल उठता है कि बीडीओ व प्रशासन के नजर में 16 मई से अबतक दोनो प्रखंडों में सीर्फ इटखोरी में पत्रकार आंनद की ही शादि हुई है। इसकी चर्चा पुरे जिले में है कि बीडीओ के इस एकतरफा कार्रवाई पर उपायुक्त संज्ञान लेते हैं या नही। वहीं भाजपा नेता सतीश सिंह ने बीडीओ के एकतरफा कार्रवाई की निंदा करते हुए उपायुक्त से जांच करवाने की मांग की है। उनका कहना है कि क्या 16 मई से अबतक तक इटखोरी मुख्यालय या पुरे क्षेत्र में बीडीओ के नजर में एक मात्र पत्रकार की शादी हुई है, इटखोरी में उसी दिन दर्जनों शादी हुई लेकिन बीडीओ ने एक पर भी मामला दर्ज नहीं कराया। इससे बीडीओ के कार्रवाई पर ही सवाल खड़ा हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *