कोरोना काल बना जन प्रतिनिधियों के लिए परीक्षा की घड़ी 

चक्रधरपुर से रामगोपाल जेना की रिपोर्ट
चक्रधरपुर : विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुखराम उरांव जी के परिवार के सदस्यों एवं एक अंगरक्षक के कोरोना संक्रमण होने से कुछ दिन पहले मिडिया कर्मियों को दिये गये अपने बयान में उन्होंने कितनी सहजता से कह दिया था कि एक जनप्रतिनिधि को किसी भी हद तक जा कर जन कल्याण से जुड़े काम करना जरूरी ही नहीं बल्कि जिम्मेदारी भी बन जाती है । वर्तमान परिस्थिति का कारण चाहे जो भी हो लेकिन इसका आभास विधायक जी को हो चुका था, जिसका संकेत उन्होंने अपने बयान में दे दिया था ।
जिस प्रकार से पूरा विधायक परिवार कोरोना काल के दौरान अन्य प्रदेशों में फंसे, घर वापसी करने वाले साथियों तक मदद पहुंचाने, वापस आये गांव के विधालय/अंगनबाडी केन्द्र/ पंचायत भवनों में रह रहे साथियों तक जरूरत का समान पहुँचाने, विभिन्न Quarantine केंद्रों में रह रहे साथियों को समयानुसार पौष्टिक और गरम भोजन नाश्ता पहुंचाने, जरूरत मंदो को दवा उपलब्ध कराने जैसे सारे जन-कल्याणकारी कार्य निरंतर विधायक आवास से ही संचालित हो रहे थे । उस सेवा कार्य में सहयोग करने वाले सभी साथियों को भोजन परोसने की जिम्मेदारी घर के महिलाओं की थी । जन प्रतिनिधि होने के नाते विधायक आवास पर जन समास्या से जुड़े मामले और मुसीबतों का समाधान हेतु क्षेत्र के लोगों का आना-जाना चलता रहा, आने-जाने वालों के लिए चाय पानी का ख्याल रखना भी महिलाओं की जिम्मेदारी थी ।

सम्पूर्ण परिवार इस आपदा को सेवा करने का एक अवसर समझकर इस संकट में जितना हो सका क्षेत्र के लोगों को समास्याओं और मुसीबतों से निजात दिलाने का प्रयास करता रहा । समास्या लेकर आने वाले साथी, मदद की आस में
फोन करने वाले अन्य प्रदेशों में फंसे श्रमिक साथी, Quarantine केन्द्रों पर हो रही असुविधा पर फोन करके बुलाने वाले साथी, कोविड अस्पताल से संक्रमण मुक्त होकर घर जाने वाले साथी, वेतन से वंचित सफाई कर्मी साथी, बिना तिरपाल के वारिश में भींग भींग कर सब्जी बेचने वाले साथी तमाम कार्यकर्ता पुलिस के जवान सभी तो अपने थे और इन सबके अपनेपन ने संक्रमण के प्रति सतर्कता को भूला सा दिया ।विधायक जी की गैर मौजूदगी में अपने कंधे पर विधायक जी की जिम्मेदारियों का बोझ उठाने वाले सुपुत्र एवं विधायक जी के जीवन के हर कठिन परिस्थिति एवं सुख-दुख की साथी उनकी पत्नी एवं बहन और एक अंगरक्षक के कोरोना Positive की खबर ने जैसे बिचलित सा कर दिया है ।हालांकि वर्तमान में सरकार की दिशा निर्देश के अनुसार सभी को घर में ही तमाम वैधानिक दिशानिर्देश का पालन करते हुए घर में ही रखा गया है । विधायक जी स्वंय को सुरक्षित रखते हुए भावुकता के साथ उन सबकी सेवा में लगे हैं ।

हम और आप इस वेबशी में शायद सबकी सलामती के लिये सिर्फ दुआ ही कर सकते हैं। और इसकी जरूरत भी है उनको ।