सुरक्षित व संवेदनशील राष्ट्र हेतु बाल उत्पीड़न मुक्त परिवेश निर्माण

बोकारो: आज प्रकाश पर्व उत्सव को जिले के पेटरवार प्रखंड के खतरी टोला के सामुदायिक भवन मे सुबह 10 बजे से बाल अधिकार सरंक्षण जागरूकता अभियान मनोवैज्ञानिक सह बाल अधिकार कार्यकर्ता डॉ प्रभाकर कुमार के अगुवाई में चलाया गया जिसमें बच्चों सहित माता पिता अभिभावकों समुदाय व स्थानीय लोगों की उपस्थिति रही ।

डॉ प्रभाकर कुमार ने कहा कि बच्चों के अधिकारों की शत प्रतिशत सुनिश्चितता तभी संभव है जब माता पिता अभिभावक व समाज भी बाल मुद्दों , कानून व बाल उत्पीड़न संबंधित तथ्यों को बारीकी से जाने । बाल अधिकारों की जागरूकता संवेदनशीलता को तय करती है , संवेदनशीलता सुरक्षित राष्ट्र की संकल्पना को मूर्त रूप की ओर ले जाती है ।

डॉ प्रभाकर कुमार ने जागरूकता अभियान में बाल मुद्दों पर प्रकाश डालते हुए बाल विवाह , बाल श्रम , बाल दुर्व्यापार , लिंग भेद व असमानता , बाल हिंसा , विभिन्न तरह के बाल उत्पीड़न , बाल दुर्व्यवहार मुक्त समाज निर्माण की बात रखी । बच्चों के लिये संकट कालीन 1098 का समुचित उपयोग के तरीकों , सुरक्षित स्पर्श असुरक्षित स्पर्श , पोक्सो कानून की परिसीमाओं पर खुलकर विचार रखे ।

पेटरवार ग्राम पंचायत समिति सदस्य बेबी मनीष जायसवाल ने यह बतलाया कि बाल अधिकारों का ज्ञान बच्चों के लिये निर्णायक साबित होगी । जागरूकता के माध्यम से बच्चों को हम बेहतर माहौल दे सकते हैं । यह प्रयास मील का पत्थर साबित होगा ।

आज के जागरूकता अभियान में समाज सेवी सदानंद चटर्जी , युवाओं मे वर्तिका , कृष्ण कांत तिवारी , ऋषभ कुमार आदि उपस्थित रहे । युवाओं ने बच्चों एवं समुदायों मे मास्क वितरण का कार्य किया । जागरूकता अभियान के साथ बच्चों में प्रतिस्पर्धा करवा कर प्रश्नों को पूछा गया और सही जवाब देने वालों को पुरस्कृत करते हुए स्टेशनरी सामग्री , चॉकलेट आदि जरूरत की चीजों को दी गयी । बच्चों के बीच उत्साहवर्धन का कार्य किया गया ।