बुध पूर्णिमा पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिरों में उमडी श्रद्धालुओं की भीड़

पाकुड़ : बुध पुर्णिमा को ले कर कोविड 19 के बीच भी लोगों में काफी उल्लास देखा गया।शहर के मंदिरों में लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये पूजा अर्चना किया।वहीं इस दौरान कोरोना महामारी को दूर करने व विश्व का कल्याण को ले कर गायत्री परिवार के द्वारा अहवान किये गये गृह गृह यज्ञ को ले कर गायत्री साधकों में काफी उदल्लास देखा गया और साधक अपने अपने घरों में गायत्री यज्ञ कर पूजा अर्चना किया।पूजा करने वालों में मनोज गुप्ता,ममता जायसवाल,विजय जासवाल,रिंकी जायसवाल,सपना जासवाल,रेखा देवी,रंजीता कुमारी,राजेश गोड़,अजय गुप्ता,पम्मी गुप्ता समेत दर्जनों साधक शामील थे।

भगवान बुद्व की प्रतिमा पर किया गया माल्यापर्ण

वैशाख पुर्णिमा व बुद्व पुर्णिमा के अवसर को ले कर शहर के सिद्धार्थ नगर रेलवे कॉलोनी में स्थापति भगवान बुद्ध की प्रतिमा पर नगर परिषद अध्यक्ष सम्पा साहा, भाजपा के वरिष्ठ नेता अनुग्राहित प्रसाद साह, जिला उपाध्यक्ष हिसाबी राय, किसान मोर्चा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य शबरी पाल, भाजपा नगर के महामंत्री सोहन,मंडल उपाध्यक्ष मनोरमा देवी,सुशील साहा, जीतू सिंह के अलावा अनेक लोगों ने माल्यार्पण कर नमन किया।माल्यापर्ण के मौके पर नगर परिषद अध्यक्ष सम्पा साहा ने नगर वासियों को शुभकामनाएं व्यक्तकरते हुये कही कि आज भगवान बुध का जन्मदिन है उन्हें नमन करते हैं जिन्होंने विश्व को ‘‘अहिंसा परमो धर्मः‘‘ का संदेश दिया। अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है हम सब से प्रेम करे और किसी को कष्ट नहीं पहुंचाए।भाजपा के वरिष्ठ नेता अनुग्राहित प्रसाद साह ने कहा कि मानव कल्याण के लिए सत्य की खोज में राजभवन के वैभव को त्यागकर सन्यास ग्रहण किया और बौधि वृक्ष के नीचे तपस्या में लीन हो गए और आज ही के दिन दिव्य ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे सिद्धार्थ से भगवान बुद्ध बन गए इन्हीं के द्वारा दिए गए विचार के आधार पर बौद्ध धर्म बना आज विश्व अनेक देशों में बौद्ध धर्म के अनेक अनुयायी है।गौतम बुद्ध ने मानव मात्र के लिए अहिंसा प्रेम और करुणा का संदेश दिया है। आज के पावन अवसर पर हम उनको सादर नमन करते हैं और सबको शुभकामनाएं व्यक्त करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *