रामगढ़ महाविद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन

रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट

रामगढ़: रामगढ़ महाविद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन आज दिनांक 13 सितंबर को प्राचार्य डॉ मिथिलेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में एन एस एस यूनिट एक और एन एस एस यूनिट दो तथा सांस्कृतिक समिति के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया । इस कार्यक्रम में स्वयंसेवी कौन है पूरे उत्साह से हिस्सा लिया और ढेर सारी सांस्कृतिक कार्यक्रम और अपनी पेंटिंग के साथ परिसर को जीवंत और खुशगवार बनाया। कार्यक्रम का प्रारंभ सरस्वती वंदना और दीप प्रज्वलन के साथ हुआ का कार्यक्रम में सब का स्वागत करते हुए एनएसएस यूनिट 2 की कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ अनामिका ने कहा कि हमारे महाविद्यालय में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है बस उन्हें तराशने की जरूरत है। कार्यक्रम का संचालन श्रुति और कुंदन कुमार ने सामूहिक रूप से किया। मनीषा कुमारी ने अपने सुमधुर सरस्वती वंदना से खूबसूरत समा बांधा। पीहू और जूही के एकल नृत्य ने खूब वाहवाही बटोरी। जीनत और हुसैन के एक कल गायन ने श्रोताओं को प्रभावित किया। जूही, रानी और संदीप की पेंटिंग आयोजन स्थल को भरा पूरा बनाया। सभी पेंटरों ने अपनी अपनी पेंटिंग में छुपे हुए मर्म को साझा किया। अंत में रोशन ग्रुप का एक नाटक खेला गया, जो मनोरंजक होने के साथ-साथ भटके युवाओं के लिए संभालने का शुभ संदेश प्रेषित करने वाला था।

इतिहास विभाग के वरिष्ठ शिक्षक डॉ बीएस सिद्धू ने कहा कि इस तरह का आयोजन महाविद्यालय में हमेशा होना चाहिए इससे विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन होता है । अपने अध्यक्षीय संबोधन में प्राचार्य मिथिलेश कुमार सिंह ने कहा कि इस तरह के आयोजन हमें अंदर से सुसंस्कृत और समृद्ध बनाते हैं। कार्यक्रम के अंत में डॉ कामना राय ने धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहा कि हमारे विद्यार्थी एन एस एस का सही सही मर्म समझे।‌ स्वयंसेवकों में सेवा भाव सर्वोपरि होना चाहिए। कार्यक्रम में प्रोफ़ेसर बी. एस. सिद्धू, डॉ सी.टी. एन. सिंह , डॉ प्रीति कमल, डॉ रामाज्ञा सिंह , प्रोफ़ेसर बीरबल महतो आदि शिक्षक उपस्थित थे। बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की।