: कोविड से सुरक्षित रहने के लिए डालसा के द्वारा सेवा केन्द्र किया गया है गठन: प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश

झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निदेश पर जिला प्रशासन एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला के संयुक्त सौजन्य से विधिक सेवा सह सशक्तिकरण शिविर का वर्चूवल आयोजन
: जिलें में 92172 लाभुकों के बीच लगभग 7587.96 लाख रूपये की परिसम्पतियों का वित्तीय वर्ष 2020-21 में किया गया वितरण

गुमला : झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निदेश पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में आज गुमला जिले के सभी प्रखण्ड मुख्यालयों में विधिक सेवा सह सशक्तिकरण शिविर का वर्चूवल आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला संजय कुमार चन्द्रवावी, स्थायी लोक अदालत के अध्यक्ष बालमुकुंद राय, प्रथम श्रेणी न्यायिक दण्डाधिकारी प्रणव कुमार तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव आनन्द सिंह ने अपने-अपने कार्यालय/चेम्बर से वच्र्युवल माध्यम से किया। जिला प्रशासन की ओर से उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अम्बष्ठ, अपर समाहत्र्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी देवेन्द्रनाथ भादुड़ी तथा सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी वर्चूवल सशक्तिकरण शिविर में अपने-अपने कार्यालय से आॅनलाईन शामिल हुए।
वर्चूवल सशक्तिकरण शिविर को संबोधित करते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार गुमला संजय कुमार चन्द्रवावी ने कहा कि आज पूरा देश राज्य और गुमला जिला वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौर से गुजर रहा है। गुमला में बड़ी संख्या में नागरिक कोरोना संक्रमित हुए है। संक्रमण से लगभग तीन दर्जन मौत भी हुई है। यद्यपि जिले में टीकाकरण अभियान चल रहा है। किंतु कुछ भ्रम एवं अज्ञानता के कारण टीकाकरण अभियान में कही-कही पर लोगों की उपस्थिति नगण्य है। जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए वच्र्यूवल माध्यम से विधिक जागरूकता एवं आर्थिक सशक्तिकरण शिविर का आयोजन आज जिले के सभी प्रखण्डों में आॅनलाईन किया गया है। सशक्तिकरण शिविर का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जनजाति के व्यक्तियों, श्रमिकों, विधवाओं, महिलाओं, दिव्यांगजनों एवं समाज के अति पिछड़े वर्ग के लोगों को केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न लोक कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देना तथा योजनाओं का लाभ दिलाना है।
वर्चूवल सशक्तिकरण शिविर में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण गुमला के कार्यालय से उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अम्बष्ठ ने सहभागिता करते हुए बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में विभिन्न प्रखण्डों के माध्यम से जिला ग्रामीण विकास अभिकरण गुमला के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के 345 लाभुकों के बीच 448.50 लाख रूपये की स्वीकृति दी गई। वही 4715 पूर्ण आवासों का लाभुकों के बीच गृह प्रवेश के लिए आॅनलाईन पत्र जारी किया गया। इसमें कुल 6129.50 लाख रूपये की राशि स्वीकृत की गई है। उप विकास आयुक्त ने बताया कि 15वीं वित्त आयोग के द्वारा निर्गत राशि से पंचायत स्तरीय कोरोना सेवा केन्द्रों में किए गए खर्चाें के भुगतान का निर्देश दिया गया है।
वर्चूवल शिविर को संबोधित करते हुए अपर समाहत्र्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने बताया कि राजस्व विभाग द्वारा जिले के 953 गाँवों में सर्दी, खाँसी, बुखार से पीड़ित लोगों का संदिग्ध कोरोना मरीज के रूप में सर्वे किया गया। इसके साथ ही 159 पंचायत में टीकाकरण केन्द्र का स्थापना कर कर्मवार ढंग से टीकाकरण का कार्य किया गया। आज ही उपायुक्त गुमला के निर्देशन में डोर टू डोर टीकाकरण के लिए 05 मोबाईल वैन विभिन्न प्रखण्डों के लिए जिला मुख्यालय से प्रस्थान कराया गया।
अपर समाहत्र्ता ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में आर्थिक सषक्तिकरण के तहत् आपदा प्रबंधन के माध्यम से 442 आंधी तूफान प्रभावितों के बीच 23 लाख, 395 फसल क्षति प्रभावितों के बीच 30 लाख तथा 211 पशु क्षति प्रभावितों के बीच 40 लाख रूपये मुआवजा के रूप में भुगतान किया गया।
वर्चूवल सशक्तिकरण शिविर में जिला समाज कल्याण विभाग की तरफ से मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के 25 लाभुकों के बीच प्रति लाभुक 30 हजार के दर से 7.50 लाख तथा मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के 20 लाभुकों के बीच 5000 रूपये प्रति लाभुक के हिसाब से एक लाख रूपये का अनुदान राशि स्वीकृत किया गया। प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के 32 लाभुकों के बीच 1.60 लाख एवं मुख्यमंत्री लक्ष्मी लाडली योजना के 80 लाभुकों के बीच 04.80 लाख रूपये का अनुदान राशि स्वीकृत किया गया।
वर्चूवल शिविर में जेएसएलपीएस के द्वारा बताया गया कि राष्ट्रीय ग्रामीण विकास योजना के अंतर्गत 79 सखी मंडल को क्रेडिट लिंकेज से जोड़ा गया है। इसके साथ ही जोहार परियोजना के तहत् 2184 लाभुकों के लिए सिंचाई योजना के क्रियान्वयन हेतु 69.03 लाख रूपये की स्वीकृति वित्तीय वर्ष 2020-21 में दी गई है।
आज के वर्चूवल माध्यम से आयोजित सशक्तिकरण शिविर में सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत राज्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन, आदिम जनजाति पेंशन योजना, राज्य विधवा सम्मान पेंशन योजना, एचआईवी एड्स सुरक्षा पेंशन योजना तथा स्वामी विवेकानन्द निःशक्त स्वावलंबन योजना के कुल 84686 लाभुकों के बीच वित्तीय वर्ष 2020-21 में 846.86 लाख रूपये भुगतान की जानकारी दी गई।
आज जिला के सभी प्रखण्ड मुख्यालयों में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल वर्चूवल सशक्तिकरण शिविर में आॅनलाईन उपस्थित होकर प्रखण्ड तथा अंचल में आर्थिक सशक्तिकरण के लिए संचालित योजनाओं एवं इससे लाभान्वितों की जानकारी दी। वच्र्यूवल सशक्तिकरण शिविर के आॅनलाईन संचालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव आनन्द सिंह तथा प्रधान सहायक जियाउल हक की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *