कालाबाजारी, जमाखोरी व कोविड़ को लेकर डीसी ने की अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला: उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में खाद्यान्न एवं उर्वरक की कालाबजारी एवं जमाखोरी पर नियंत्रण, आपदा प्रबंधन, कोविड-19 से संबंधित स्वास्थ्य विभाग के कार्य, चाइल्ड फ्रेंडली वार्डों की स्थापना, टीकाकरण की अद्यतन स्थिति सहित अन्यान्य विषयों पर बिंदुवार समीक्षा हेतु बैठक का आयोजन आईटीडीए भवन स्थित उपायुक्त के कार्यालय वेश्म में किया गया।

बैठक में उपायुक्त ने गुमला जिले में खाद्यान्न एवं उर्वरक की कालाबजारी एवं जमाखोरी पर नियंत्रण व रोक लगाने के उद्देश्य से सदर अनुमंडल पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी एवं जिला आपूर्ति पदाधिकारी को जाँच एवं छापामारी अभियान चलाने का निर्देश दिया। उन्होंने तेल के निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर बेचे जाने की शिकायत प्राप्त होने पर सदर अनुमंडल पदाधिकारी एवं जिला आपूर्ति पदाधिकारी को इसकी जाँच करने का निर्देश दिया। उन्होंने छापामारी अभियान चलाकर जिले में खाद्यान्न के होने वाले जमाखोरी पर रोक लगाने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने दुकानों में जरूरत से अधिक संख्या में खाद्य सामग्रियों के भंडारण की भी जाँच करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजनांतर्गत जिले के जरूरतमंद लाभार्थियों को मिलने वाले खाद्यान्न की वस्तुस्थिति की जाँच करने तथा पीडीएस डीलरों द्वारा जरूरतमंद व्यक्तियों के बीच समय पर खाद्यान्न की आपूर्ति की जा रही है या नहीं इसकी जाँच कर जरूरतमंद व्यक्तियों को समय पर खाद्यान्न उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने जिला कृषि पदाधिकारी को उर्वरक उचित मूल्य पर किसानों को उपलब्ध कराने तथा किसानों को बोवाई में उर्वरक की कमी ने हो इसपर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। उन्होंने किसानों के बीच समय पर खाद्य-बीजों का वितरण सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने सभी लैम्पसों में अबतक कितने बीज आए इसकी जानकारी प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने 26 एवं 27 मई 2021 को बंगाल की खाड़ी से उठने वाले संभावित तूफान से निपटने में विद्युत प्रमंडल की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। इस संबंध में उन्होंने कार्यपालक अभियंता विद्युत प्रमंडल को जिले के सभी अस्पतालों में मरीजों के उच्चतम ईलाज हेतु निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जरा सी आँधी-तूफान के दौरान विद्युत आपूर्ति ठप न करने व भीषण आँधी-तूफान की स्थिति में विद्युत आपूर्ति ठप करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने तूफान के गुजर जाने के पश्चात् क्षतिग्रस्त विद्युत आपूर्ति को शीघ्र दुरूस्त कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने सिविल सर्जन को संभावित तूफान को देखते हुए अस्पतालों में मरीजों के नियमित उपचार एवं ईलाज को दृष्टिपथ करते हुए अस्पतालों में जेनेरेटर, निर्बाध विद्युत एवं ऑक्सिजन आपूर्ति हेतु विद्युत की वैकल्पिक व्यवस्था एवं संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इसपर अपर समाहर्त्ता ने सिविल सर्जन को सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ गैर सरकारी अस्पतालों को भी इसकी सूचना देते हुए वहाँ निर्बाध विद्युत आपूर्ति हेतु विद्युत की वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने जिले में वेक्टर जनित रोग यथा मलेरिया, डेंगू, काला जार, चिकनगुनिया, फाइलेरिया, जपानी इंसिफलाइटिस आदि से बचाव हेतु सिविल सर्जन को सहिया एवं एमपीडब्लू को आवश्यक मलेरिया रोधी दवाओं सहित अन्य वेक्टर जनित रोगों के ईलाज हेतु दवाओं का वितरण सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। इस संबंध में अपर समाहर्त्ता ने इन बीमारियों से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के बचाव के निमित्त पम्पलेट-पोस्टर आदि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने कोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों के मद्देनजर शिशुओं एवं बच्चों के इसके संभावित प्रसार से बचाव हेतु जिले में चाइल्ड फ्रेंडली वार्डों की स्थापना की समीक्षा की। उन्होंने सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के आलोक में चाइल्ड फ्रेंडली वार्डों की स्थापना करने का निर्देश दिया। उन्होंने नर्सिंग कौशल कॉलेज में बनने वाले 100 बेडों के बाल रोग वार्ड (पीडियैट्रिक्स वार्ड) की स्थापना यथाशीघ्र सुनिश्चित करने पर विशेष जोर दिया। इस संबंध में उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग को सदर अस्पताल सहित जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में कुल कितने बेड हैं तथा कितने बेडों को चाइल्ड फ्रेंडली बेडों में तब्दील किया गया है, इसका विस्तरित प्रतिवेदन यथाशीघ्र समर्पित करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त ने आज दिनांक 25 मई से 05 जून 2021 तक जिले के सभी प्रखंडातर्गत प्रत्येक गाँवों में रैट आधारित कोविड जाँच कराने हेतु सर्वेक्षण एवं जाँच दल में शामिल सखी मंडल की दीदीयों को सहिया आदि से सर्दी/ खांसी/ बुखार अथवा कोरोना के लक्षण पाए जाने वाले मरीजों का सर्वेक्षण उपरान्त डाटा प्राप्त कर उक्त डाटा को सुलेखा पोर्टल पर प्रविष्ट कराने का निर्देश डीपीएम जेएसएलपीएस को दिया। इस संबंध में उन्होंने प्राप्त किए गए डाटा की प्रविष्टि प्रतिदिन समय पर सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने वैसे सभी फ्रंटलाइन कर्मियों एवं स्वास्थ्य कर्मियों जिन्होंने अबतक टीकाकरण का पहला डोज अथवा दोनों डोज नहीं लिया है उनकी जानकारी प्राप्त की। डीपीएम स्वास्थ्य द्वारा बताया गया कि 1000 स्वास्थ्य कर्मियों ने टीकाकरण का प्रथम डोज नहीं लिया है तथा 1800 स्वास्थ्य कर्मियों ने टीकाकरण का दूसरा डोज नहीं लिया है। वहीं फ्रंटलाइन कर्मियों की जानकारी साझा करते हुए डीपीएम जेएसएलपीएस द्वारा बताया गया कि 350 में से 269 फ्रंटलाइन कर्मियों ने टीकाकरण का प्रथम डोज ले लिया है, जिसमें 35 कर्मियों ने प्रथम डोज नहीं लिया है। इसके अलावा 128 फ्रंटलाइन कर्मियों ने दूसरा डोज ले लिया है। इसपर उपायुक्त ने वैसे फ्रंटलाइन कर्मियों जिन्होंने टीका नहीं लगवाया है, टीका नहीं लेने का उचित कारण स्पष्ट करते हुए उनकी सूची प्रतिवेदित करने का निर्देश डीपीएम जेएसएलपीएस को दिया।

बैठक में उपायुक्त ने 45 प्लस एवं 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के टीकाकरण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि वर्तमान में 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी लाभार्थियों के टीकाकरण हेतु कोवीशील्ड के 719 तथा कोवैक्सीन के 1109 वायल उपलब्ध हैं। वहीं 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लाभार्थियों के टीकाकरण हेतु कोवीशील्ड के 463 तथा कोवैक्सीन के 45 वायल उपलब्ध हैं। समीक्षा के दौरान जिले में टीकाकरण लेने वाले 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लाभार्थियों की संख्या कम पाई गई। इसपर उपायुक्त ने अधिक से अधिक संख्या में 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से शिक्षकों के माध्यम से लोगों को उत्प्रेरित करने हेतु प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिया।

बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन डॉ.विजया भेंगरा, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला कृषि पदाधिकारी सत्यनारायण महतो, जिला आपूर्ति पदाधिकारी गुलाम समदानी, कार्यपालक अभियंता विद्युत प्रमंडल स्तयनारायण पातर, डीपीएम स्वास्थ्य जया रेशमा खाखा, डीपीएम जेएसएलपीएस मनीषा सांचा व अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *