उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा ने नगर परिषद कार्यालय का औचक निरीक्षण किया

उपायुक्त ने कार्यालय की गंदगी पर नाराजगी व्यक्त की
बसंत कुमार गुप्ता

गुमला. उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा के द्वारा आज गुमला नगर परिषद कार्यालय का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्यपालक पदाधिकारी हातिम ताई राय के कार्यालय कक्ष सहित सभागार, कम्प्यूटर कक्ष, अध्यक्ष/उपाध्यक्ष वेश्म का अवलोकन किया। कार्यालय में रौशनी की पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। कार्यालय के प्रवेश द्वार में टूटी एवं पुराने कुर्सिया बेतरबीत ढंग से रखी हुई थी। इस पर असंतोष व्यक्त करते हुए उपायुक्त ने कहा कि जिस कार्यालय के उपर पूरे शहर की सफाई का दायित्व है, उस कार्यालय में ही सफाई की कमी है। यह स्थिति काफी निराशाजनक है।
उपायुक्त ने कार्यालय में कार्यरत् एक महिला एवं एक पुरूष कर्मचारी को बिना मास्क के कार्य करते देख दोनों कर्मियों से 200-200 रूपया जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया। साथ ही सभी कर्मियों को मास्क पहनने, कार्यालय में दूरी बनाकर सीटिंग व्यवस्था करने तथा कार्यालय को साफ-सुथरा रखने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा कि शहरी क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। नगर परिषद को अपने सभी वार्ड में वार्ड सदस्यों के साथ समन्वय बनाकर नालियों की सफाई, कूड़ा-कचरा हटाने का निर्देश दिया। उन्होंने मोबाईल मोबाईल वाहन के द्वारा सैनिटाईजेशन सभी प्रमुख चैक-चैराहा एवं भीड़-भाड़ वाले इलाकों में नियमित रूप से करने का निर्देश दिया। वर्षा के मौसम में शहरी क्षेत्र के कुछ स्थानों में जल-जमाव के कारण बीमारी के संक्रमण की संभावना को देखते हुए जल निष्कासन की व्यव्स्था करने एवं डीडीटी पाउडर का छिड़काव करने का निर्देश दिया। फाॅगिंग मशीन के द्वारा मच्छरों को भगाने के लिए फाॅगिंग कराने का भी निर्देश दिया।
उपायुक्त ने कार्यालय में संधारित विभिन्न पंजियों का अवलोकन किया। कार्यालय में रोकड़ पंजी अद्यतन संधारित नहीं पाया गया। कार्यपालक पदाधिकारी हातिम ताई ने बताया कि जून माह में नाजिर सेवानिवृत हो गए हैं। अभी कार्यालय के वरीय कर्मी को प्रभारी नाजिर बनाया गया है। सेवानिवृत नाजिर द्वारा अपने कार्यकाल का रोकड़ पंजी संधारित कर एक सप्ताह के अंदर अद्यतन कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जन्म मृत्यु निबंधन के आवेदनों का निष्पादन किया जा रहा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास शहरी के तहत् नगर परिषद क्षेत्र में 4,759 आवास स्वीकृत हुआ है, जिसमें 2324 पूर्ण हो गए है।
उपायुक्त ने कार्यपालक पदाधिकारी को नगर परिषद के वार्षिक बजट नगर परिषद द्वारा टैक्स वसूली तथा पिछले वित्तीय वर्ष तक संचालित योजनाओं के भौतिक एवं वित्तीय उपलब्धि से संबंधित समेकित प्रतिवेदन दो दिन के अंदर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
उपायुक्त के साथ निरीक्षण के दौरान उप विकास आयुक्त हरि कुमार केशरी, स्थापना उप समाहत्र्ता विद्याभूषण, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी देवेन्द्रनाथ भादुड़ी सहित कार्यपालक पदाधिकारी हातिम ताई राय, सिटि मैनेजर अनंत खलखो व अन्य उपस्थित थे।