डीडीसी ने किया शिक्षा, सामाजिक सुरक्षा सहित अन्य विभागों के कार्यों की समीक्षा, दिया कई आवश्यक निर्देश

महेंद्र कुमार यादव

चतरा: चतरा समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में उप विकास आयुक्त, सुनील कुमार सिंह ने एक के बाद एक बैठकें कर जिले में शिक्षा, सामाजिक सुरक्षा, समाज कल्याण, कृषि, मत्स्य, गव्य विकास, पशुपालन विभाग के कार्यो का समीक्षा बैठक किया। बैठक में उप विकास आयुक्त ने एक एक कर बिंदुवार तरीके से उक्त विभागों के कार्यों की समीक्षा कर कई आवश्यक निर्देश दिए। शिक्षा विभाग के कार्यो की गहन समीक्षा करते हुए बैठक में जिला शिक्षा अधीक्षक, जितेंद्र सिन्हा को उप विकास आयुक्त ने कई आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कोविड-19 वैक्सीन की समीक्षा करते हुए जिले में जिन शिक्षक, पारा शिक्षकों, शिक्षा कर्मियों, विभागीय कर्मियों द्वारा अभी तक टीकाकरण नहीं कराया गया है। उन्हें एक सप्ताह के अन्दर टीकाकरण करा लेने का निर्देश दिया गया। साथ ही गंभीर बीमारी का कारण दर्शा कर टीका नहीं लेनेवाले शिक्षक, शिक्षा कर्मियों से आवेदन प्राप्त कर जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय को उपलब्ध कराने एवं उनका चिकित्सा जाँच, मुख्य शल्य चिकित्सक चतरा के द्वारा चिकित्सकों का टीम गठित कर वास्तविकता कारण की पहचान करवाने का निर्देश दिया गया। वहीं विद्यालय के शिक्षक अपने विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों, सरस्वती वाहिनी के सदस्यों का टीकाकरण अविलम्ब कराते हुए गाँव स्तर पर अन्य लोगों को टीका लेने हेतु प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया गया। डी. जी. स्कूल एप्प से पठन-पाठन पर चर्चा की गई। इस संबंध में उप विकास आयुक्त ने स्पष्ट निदेश दिया कि जिस भी शिक्षकों द्वारा ऑनलाईन पढ़ाई कराने या बच्चों का व्हाटएप ग्रुप बनाने में उदासीनता बरती जा रही है। उन्हें चिन्हित कर विभागीय नियमानुसार कार्यवाई की जाय। एसडीएमआईएस, यू- डाइस की समीक्षा करते हुए उन्होंने राज्य सरकार द्वारा प्राप्त निदेश के अनुसार डायस की इन्ट्री संबंधित विद्यालय के शिक्षक द्वारा ऑनलाइन करने को कहा। निर्गत अग्रिम राशि के समायोजन की भी समीक्षा गई। जिले में कार्यरत तीन कनीय अभियंता में एक की तबियत खराब होने के कारण लम्बे समय से कार्यालय में उपस्थित नहीं हो पा रहे हैं, जिसके कारण असैनिक कार्य के राशि का शत प्रतिशत समायोजन नहीं हो पाया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी को उप विकास आयुक्त द्वारा निदेश दिया गया कि जिले में वर्तमान में उपस्थित दो कनीय अभियंता के माध्यम से एक सप्ताह के अन्दर संबंधित अग्रिम राशि का समायोजन करा लिया जाय। विद्यालय विकास अनुदान राशि, पोशाक की राशि एवं अन्य कार्यक्रम मद की राशि के समायोजन हेतु दिनांक 15.06.2021 तक सभी प्रखण्डों को पूर्ण कर लेने का निर्देश दिया गया। पाठ्यपुस्तक वितरण- कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए बच्चों के घर तक पाठ्यपुस्तक का वितरण किया जाना है। जिले में अभी तक 63 प्रतिशत पुस्तकें बच्चों तक पहुँचाया जा चुका है। इस संबंध में बैठक में निर्देश दिया गया कि 20 जून तक शेष बचे पाठ्यपुस्तकों को संबंधित बच्चों के पास पहुँचाना सुनिश्चित कर लिया जाय। विद्यालय प्रबंधन समिति के खाते से राशि वापसी की समीक्षा करते हुए राज्य सरकार के निदेशानुसार शिक्षा परियोजना के अधीनस्त संचालित एजेन्सियों के खाते की सम्पूर्ण राशि वापस कर लिया जाना है। राज्य स्तर पर एक बैंक समूह का संचालन किया जाना है। संबंधित एजेन्सियों को बजट के अनुसार राशि निकासी हेतु प्राधिकृत किया जायेगा। वर्तमान में 20 जून 2021 तक सभी खातों यथा विद्यालय प्रबंधन समिति, संकुल संसाधन केन्द्र, प्रखण्ड सुंसाधन केन्द्र, कस्तूरबा गाँधी आवासीय विद्यालय, समर्थ आवासीय विद्यालय के सभी खातों को शून्य जमा पर रखा जायेगा। इस विषय में सरकार का स्पष्ट सोंच है कि राशि का लम्बे समय से खाते में पड़े रहना एवं अग्रिम समायोजन में कठिनाईयों को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। बैठक में उप विकास आयुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि इस संबंध में सभी अधीनस्त एजेन्सियों को इस आशय की सूचना देते हुए शेष राशि को नियमानुसार जिला कार्यालय के खाते में निर्धारित समय अवधि दिनांक 20 जून 2021 तक राशि को उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाय। इसके अलावे उप विकास आयुक्त ने सामाजिक सुरक्षा अंतर्गत जितने भी पेंशन योजना है, यथा वृद्धा अवस्था पेंशन, राज्य सामाजिक सुरक्षा अवस्था पेंशन, आदिम जनजाति पेंशन समेत अन्य की समीक्षा किया। समीक्षा के दौरान सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा द्वारा बताया गया कि पेंशन धारियों को मई माह तक का भुगतान कर दिया गया है। वहीं राज्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन को लेकर अवशेष लक्ष्य को पूर्ण करते हेतु सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया गया। मत्स्य विभाग की समीक्षा करते हुए उप विकास आयुक्त ने जिला मत्स्य पदाधिकारी को वर्षा ऋतु से पूर्व स्पॉन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। गव्य विकास विभाग को डीप बोरिंग एवं भरणो कंपोस्ट का निर्धारित लक्ष्य इस माह के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। इसी प्रकार से जिला समाज कल्याण पदाधिकारी एवं कृषि विभाग के भी कार्यो की गहन समीक्षा कर उप विकास आयुक्त ने कई आवश्यक निर्देश दिए। जिससे जिले में योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से किया जा सके। बैठक में मुख्य रूप से जिला शिक्षा अधीक्षक, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी, प्रखण्ड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी ईटखोरी, टण्डवा, सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी, जिले के सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड कार्यक्रम पदाधिकारी एवं अन्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *