पत्थर खदान में मिला युवक का शव

पाकुड़ से मुकेश जायसवाल की रिपोर्ट
पाकुड़ः बुधवार को मालपहाड़ी ओपी क्षेत्र के रामनगर स्थित एक बंद पड़े पत्थर खदान में एक युवक का शव मिला है. शव देख स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गई और लोगों ने इसकी सूचना मालपहाड़ी ओपी की पुलिस को दी. ासूचना मिलते ही ओपी प्रभारी शुकरू उरांव सदलबल मौके पर पहॅूचे और शव को खदान से बाहर निकाला।वहीं शव की पहचान सालबोनी गांव के 25 वर्षीय दिलिप राय पिता कोकिल राय के रूप में की गई है.मृतक के परिजनों ने बताया कि मंगलवार शाम से वह लापता था और अगले दिन पत्थर खदान से उसका शव मिला. मृतक के मां रीता राय ने बताया कि दिलिप गत कल देर शाम घर से निकला था. इसके बाद वह घर नहीं लौटा. लोगों ने आंदेशा जताते हुये बताया कि संभवत वह पतर खदान मंे गिर गया होगा और इससे उसकी मौत हो गयी होगी।फिलहाल मामला जो हो परन्तू पुलिस इसकी जॉच कर रही है।मालपहाड़ी ओपी प्रभारी सुकरु उरांव ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल सोनाजोरी भेज दिया गया है. इसके साथ ही यूडी केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है. मृतक के परिजनों ने बंद पड़े खदान मालिक से मुआवजे की मांग किया है।

सुरक्षा मानक का पालन नहीं करने के कारण होती है हादसा

मालपहाड़ी ओपी क्षेत्र में चलने वाले अधिकतर क्रशर और पत्थर खदान में सुरक्षा नियमो की अनदेखी करना आम बात है।पत्थर व्यवसायी पत्थर खदान में बेरिकेटिंग ना के बराबर करते हैं इसके साथ साथ यदि प्रदुषर्ण की बात की जाये तो खुलेआम इसकी अनदेखी होती है।पत्थर खनन क्षेत्र में बिना सेफ्टी कीट के मजदूर काम करते देखे जा सकते है।वैसे तो माईन्स सेफ्टी के नाम पर लाखों रूपये खर्च कर कार्यक्रम आयेाजित किया जाता है परन्तू जमीनी स्तर पर इसका अनुपालन ना के बराबर होता है और इसी के परिणाम स्वरूप सालेाभर पत्थर औद्योगिक क्षेत्र में दुघर्टना घटता रहता है और गरीब मजदूर जान गवाते रहते है।बिते दिनों इसी प्रकार एक हादसा में एक मजदूर की जान चल गई थी।पत्थर औद्योगिक क्षेत्र में घटती दुघर्टना कहीं ना कहीं यह चिंता का विषय बना हुआ है।