झारखण्ड में उड़िया भाषा संरक्षण की मांग को लेकर समाहरणालय परिसर पर उड़िया भाषियों का प्रदर्शन 28 को

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला। झारखंड में उड़िया भाषा के संरक्षण की मांग को लेकर स्थानीय उड़िया भाषी 28 सितंबर को समाहरणालय परिसर पर प्रदर्शन करेंगे। सरायकेला नगर पंचायत अध्यक्ष मीनाक्षी पटनायक ने इसकी जानकारी देते कहा कि यह कार्यक्रम 27 सितंबर को निर्धारित किया गया था परंतु 27 सितंबर को सरकारी अवकाश रहने के कारण धरना प्रदर्शन कार्यक्रम 28 सितंबर रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम किसी राजनैतिक पार्टी विशेष की नहीं, बल्कि उड़िया भाषियों की है। जिसमें सभी ओड़िया भाषा भाषी पहुंच कर अपनी योगदान दें। वर्तमान सरकार द्वारा उड़िया भाषा संरक्षण को लेकर किसी प्रकार की गतिविधि में सहयोग नहीं किया जा रहा है। धरना प्रदर्शन कार्यक्रम की तैयारी को समाजसेवी सुदीप पटनायक के आवास पर स्थानीय प्रबुद्ध जनों की एक बैठक हुई। बैठक में उड़िया भाषा को लेकर सरकार द्वारा किए जा रहे विभिन्न उपेक्षा को सूचीकरण करते हुए उनका निराकरण के लिए आगे की कार्रवाई तय की गई। समाजसेवी सुदीप पटनायक ने कहा कि धरना प्रदर्शन कर उपायुक्त को एक ज्ञापन भी सौंपा जाएगा।