उपायुक्त ने सदर प्रखंड सह अंचल कार्यालय का किया औचक निरीक्षण

कार्यालय में अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित पाए गए पदाधिकारियों/ कर्मियों का वेतन किया गया स्थगित

गुमला : उपायुक्त  शिशिर कुमार सिन्हा ने आज सदर प्रखंड सह अंचल कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। औचक निरीक्षण के दौरान प्रखंड सह अंचल कार्यालय के कर्मचारी अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित पाए गए। वहीं प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी के कार्यालय में अनुपस्थित पाए जाने पर उपायुक्त ने कर्मचारियों से जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि उच्च न्यायालय के कार्यों के सबंध में प्रखंड विकास पदाधिकारी मुख्यालय में नहीं हैं, तथा अंचलाधिकारी द्वारा दूरभाष के माध्यम से खोरा ग्राम का क्षेत्र भ्रमण की जानकारी दी गई। उपायुक्त ने प्रखंड सह अंचल कार्यालय की उपस्थिति पंजी का अवलोकन कर अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उनके वेतन स्थगित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही प्रखंड कार्यालय के प्रधान लिपिक भी अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित पाए गए। उपायुक्त द्वारा पूछने पर बताया गया कि प्रधान लिपिक की प्रतिनियुक्ति जिला कोविड नियंत्रण कक्ष में होने के कारण वे कार्यालय में अनुपस्थित हैं। उपायुक्त द्वारा जाँच में पाया गया कि प्रधान लिपिक की प्रतिनियुक्ति जिला कोविड नियंत्रण कक्ष में अपराह्न 2.00 बजे से निर्धारित है। इसपर उपायुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए प्रधान लिपिक के वेतन स्थगित कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

*_निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने कार्यालय के रोकड़ पंजी की जाँच की। जाँच के क्रम में पाया गया कि रोकड़ पंजी में दिनांक 15 फरवरी 2021 से पदाधिकारी द्वारा हस्ताक्षर नहीं किया गया है तथा कार्यालय के नाजिर द्वारा 02 अगस्त 2021 तक ही रोकड़ पंजी अद्यतन पाई गई। इसपर उपायुक्त ने असंतोष व्यक्त करते हुए अंचलाधिकारी का वेतन स्थगित करने का निर्देश दिया।

उपायुक्त ने प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी से 15वें वित्त आयोग संबंधित प्रतिवेदन की मांग की गई तथा कार्यालय में संधारित जाति/ आय/ आवासीय प्रमाण पत्रों के लंबित आवेदनों की समीक्षा हेतु जाति/ आय/ आवासीय पंजी की भी मांग की गई। इसके अलावा कार्यालय में उपस्थित पालकोट रोड बेहराटोली निवासी आवेदक अरूण कुमार ने बताया कि वे राशन कार्ड के कार्य से एक सप्ताह से प्रखंड कार्यालय दौड़ रहे हैं, किंतु पणन पदाधिकारी से संपर्क नहीं होने के कारण होने वाली असुविधाओं की जानकारी दी। इसपर उपायुक्त ने पणन पदाधिकारी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए वेतन स्थगित करने का निर्देश दिया।_*

उपस्थिति
उपायुक्त को औचक निरीक्षण के दौरान अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, आईटी प्रबंधक (राजस्व) राजीव रौशन, प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी, प्रखंड सह अंचल कार्यालय के कर्मीगण व अन्य उपस्थित थे।