कोविड-19 के थर्ड वाइव की तैयारी समेत अन्य विषयों पर उपायुक्त, दिव्यांशु झा ने समीक्षा बैठक कर दिए आवश्यक निर्देश

महेंद्र कुमार यादव

चतरा: चतरा समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में उपायुक्त दिव्यांशु झा ने कोविड-19 तीसरे वेभ की तैयारियों समेत सदर अस्पताल चतरा के कायाकल्प के बिन्दुओं, कोविड के इलाज हेतु प्रशिक्षण की स्थिति एवं 18 से कम उम्र के बच्चों के कोविड के उपचार हेतु आवश्यक तैयारियों का समीक्षा किया। उपायुक्त ने एक एक कार बिंदुवार तरीके से सभी आवश्यक विषयों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कोविड-19 तीसरे वेभ संभावना जताते हुए इसके आने से पूर्व जिले में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त रखने एवं और भी पूर्व से सक्रिय रहने की बात कही। उन्होंने सदर अस्पताल चतरा में 18 से कम उम्र के बच्चों के कोविड के उपचार को लेकर कई आवश्यक निर्देश दिए। वही प्राप्त एवं पिछले दिनों खरीदे गए ऑक्सिजन कंसंट्रेटर, रेगुलेटर, बी टाइप ओक्सिजन सिलेंडर, डी टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर समेत सभी जरूरी मेडिकल इक्विपमेंट की अच्छे से उपयोगिता, आवश्यकता अनुसार मेडिकल इक्विपमेंट से सम्बंधित प्रशिक्षण का निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 की आगामी तैयारी हेतु टण्डवा सी०एच०सी० में PSA Plant अधिष्ठापन हेतु सी०सी०एल० से CSR के तहत् सैद्धान्तिक सहमति प्राप्त है। हटरगंज सीएचसी में ऐसे पीएसए प्लांट, पाइपलाइन अधिष्ठापन हेतु योजना की आरईसी सीएसआर के मद से सैद्धान्तिक सहमति प्राप्त है। इसके अलावे राज्य आपदा कोष से ऑक्सीजन प्लांट अधिष्ठापन हेतु राशि प्राप्त है, जिससे ईटखोरी व गिद्धौर सीएचसी में स्टील प्लांट,पाइपलाइन अधिष्ठापन की कार्रवाई की जानी है। इसके अतिरिक्त उपलब्ध राशि की कमी होने की स्थिति में डीएमएफटी की शाशी निकाय की बैठक में इन सभी सीएचसी में पीएसए प्लांट, पाइपलाइन अधिष्ठापन की योजना पर सहमति दी जा चुकी है। अतएव इस कार्य के कार्यान्वयन हेतु निर्देशित किया गया कि (01) इंटरगंज, टण्डवा व इंटखोरी तथा गिद्धौर (Compressor के साथ) में पीएसए प्लांट की समेकित टेण्डर (02) इंटरगज, गिद्धौर व इंटखोरी में पाईप लाईन कार्य का समेकित टेण्डर व (03) ऑक्सीजन सिलिण्डर की आपूर्ति हेतु समेकित टेण्डर निर्गत किया जाना सुनिश्चित किया जाए तथा इसकी उचित प्रशासनिक अनुमति संबंधित सचिकाएँ शाखाओं के द्वारा उपस्थापित किया जाए। उक्त तीनो टेण्डर के सफल निष्पादन एवं संचिका संधारण का कार्य आपदा प्रबंधन अंतर्गत गठित प्रोक्योरमेंट कमिटी के द्वारा किया जायेगा। उपायुक्त ने पीएसए का अच्छे से संचालन हेतु विद्युत/जरनेटर की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ हीं कार्यपालक अभियंता, विद्युत प्रमंडल को सभी जरूरी मेडिकल इक्विपमेंट के संचालन में पर्याप्त मात्रा में लोड उठाने को लेकर सदर अस्पताल में इलेक्ट्रिक वायरिंग की जांच करने के निर्देश दिए गए। जिससे मशीनों का संचालन अच्छे से हो पाए। उपायुक्त ने एसएनसीयू, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए रेडियंट वार्मर एवं पोर्टेबल एक्सरे मशीन लेने के निर्देश दिए। वहीं आवश्यकता अनुसार चिकित्सकों को ऑक्सिजन कंसंट्रेटर समेत अन्य मशीनों का ससमय प्रशिक्षण देने को भी कहा गया। बैठक में उपायुक्त ने सदर अस्पताल चतरा के कायाकल्प के बिन्दुओं पर भी चर्चा कर कई आवश्यक निर्देश दिए। इनमें सदर अस्पताल के गेट पर कैटल ड्राफ्ट यानी मवेशी रोकने हेतु बैरिकेडिंग, सदर अस्पताल के चारो ओर सौंदर्यीकरण, ऑपेरशन थियेटर एवं वार्ड में तय मानकों के आधार पर अच्छे लाइट, सेनेटाइज बोर्ड, पार्किंग, नर्सिंग स्टेशन, हर माह पेयजल की गुणवत्ता की जांच, नए भवन में रेन वाटर हार्वेस्टिंग तकनीक, आर ओ वाटर फिल्टर, ड्रेस कोड, ऑपेरशन थियेटर एवं लेबर रूम में टाइल्स समेत अन्य को लेकर कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमंडल एवं जिला अभियंता जिला परिषद को कई आवश्यक निर्देश दिए गए एवं ससमय कार्यो को पूर्ण करने को कहा गया। बैठक में मुख्य रूप से उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, निदेशक डीआरडीए, अनुमंडल पदाधिकारी चतरा, सिविल सर्जन, जिला अभियंता जिला परिषद, कार्यपालक अभियंता भवन प्रमंडल/विद्युत प्रमंडल, डीएमएफटी पीएमयू समेत अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *