उपायुक्त ने आंगनबाड़ी केंद्र भवन निर्माण की समीक्षा बैठक की

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट
गढ़वा: गुरुवार को उपायुक्त राजेश कुमार पाठक ने आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन निर्माण की समीक्षा किया । बैठक में उपायुक्त ने सहायक अभियंता आरईओ, सहायक अभियंता विशेष प्रमंडल व कनिय अभियंता भवन प्रमंडल को योजना-वार आंगनबाड़ी केंद्रों के भवन जो अपूर्ण है अथवा असंतोषजनक अवस्था में है का भौतिक सत्यापन कर 25 अगस्त तक प्रतिवेदन उपलब्ध करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पदाधिकारी फील्ड वेरिफिकेशन और अद्यतन स्थिति संबंधी रिपोर्ट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उपायुक्त के द्वारा पूर्व में प्रखंड विकास पदाधिकारियों के माध्यम से जिले में अवस्थित सभी आंगनवाड़ी केंद्रों की वर्तमान वस्तुस्थिति का निरीक्षण करवाया गया था जिसके तहत जिले में कुल कितने आंगनबाड़ी केंद्र सरकारी भवन में संचालित है वहीं कितने आंगनबाड़ी केंद्र को किराए के भवन में चलाया जा रहा है तथा उनके लिए प्रस्तावित भवन निर्माण की वर्तमान स्थिति क्या है, उक्त संदर्भ में प्रखंड विकास पदाधिकारियों के द्वारा सत्यापन करवाते हुए उपायुक्त को प्रतिवेदन समर्पित किया गया था। इसी कड़ी में आज उपायुक्त ने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती पूर्णिमा कुमारी को किराए के भवनों में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवन (जो बनकर तैयार हो चुके हैं) में शिफ्ट कराने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों से उनके क्षेत्र अंतर्गत संचालित आंगनवाड़ी केंद्रों की वर्तमान स्थिति संबंधी प्रतिवेदन लेने की बात कही।वहीं उन्होंने 50 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनवाड़ी केंद्र के रूप में विकसित किए जाने को लेकर जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को अपने स्तर उसकी जांच करने का निर्देश भी दिया। उपायुक्त ने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों की समय-समय पर समीक्षा का एकमात्र उद्देश्य यही है कि ज्यादा से ज्यादा केंद्र सरकारी भवनों में संचालित हो तथा इससे जरूरतमंद लोगों को लाभान्वित किया जाएं।

बैठक में उपायुक्त के अलावा मुख्य रूप से उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती पूर्णिमा कुमारी, सहायक अभियंता आरईओ, सहायक अभियंता विशेष प्रमंडल व कनिय अभियंता भवन प्रमंडल समेत अन्य उपस्थित थे।