उपायुक्त अनन्य मित्तल ने सदर अस्पताल के ऑक्सीजन भंडार कक्ष का किया औचक निरीक्षण

उपलब्ध संसाधनों का नियमित रूप से स्टॉक वेरिफिकेशन एवं आवश्यकतानुसार उपयोग का दिया गया निर्देश
रामगोपाल जेना
चाईबासा: पश्चिमी सिंहभूम जिला दंडाधिकारी जिला उपायुक्त अनन्य मित्तल के द्वारा सदर अस्पताल-चाईबासा स्थित ऑक्सीजन भंडार कक्ष का औचक निरीक्षण किया गया। पदाधिकारी डॉ ओम प्रकाश गुप्ता, डी.आर.सी.एच.ओ डॉ सुंदर मोहन सामढ़, जिला सर्विलांस पदाधिकारी डॉ संजय कुजूर उपस्थित रहे। निरीक्षण के दौरान उपायुक्त के द्वारा मरीजों को उपलब्ध करवाए जा रहे ऑक्सीजन सिलेंडर की मात्रा एवं खाली होने वाले सिलेंडर को तत्काल रिफिल करवाने हेतु की जा रही कार्रवाई की जानकारी ली गई। उपायुक्त के द्वारा उपस्थित चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा गया कि जिला प्रशासन के द्वारा संसाधनों की आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु लगातार कार्य किए जा रहे हैं तथा उन कार्यों के प्रतिफल इलाजरत मरीजों को सुविधा उपलब्ध करवाना हम सभी का एक मात्र ध्येय है। उन्होनें कहा कि संसाधनों की आपूर्ति के समय उसे तत्काल स्टॉक पंजी में दर्ज करना एवं आवंटन के उपरांत पंजी का संधारण करना महत्वपूर्ण कार्य है ताकि वर्तमान समय में उपलब्ध संसाधनों तथा भविष्य में आवश्यक होने वाले संसाधनों का आकलन त्वरित गति से किया जा सके। उपायुक्त के द्वारा निर्देशित करते हुए यह भी कहा गया कि कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों के समुचित इलाज हेतु की गई व्यवस्थाओं का संपूर्ण लाभ व्यक्ति को मिलना सुनिश्चित हो एवं यह ध्यान रहे कि किसी भी तरह से संसाधनों का अनावश्यक उपभोग ना हो।