उपायुक्त ने की पंचायती राज विभाग एवं जिला परिषद के कार्यो की समीक्षा

अधूरे योजना को सितंबर तक करें पूर्ण

पाकुड़: उपायुक्त वरुण रंजन की अध्यक्षता में जिला पंचायती राज विभाग एवं जिला परिषद के कार्यो की समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त श्री रंजन ने पंचायती राज से 14 वें एवं 15 वें वित्त के अंतर्गत संचालित योजनाओं की जानकारी ली। जिसमें बताया गया कि 14 वें वित में कुल 10294 योजनाऐं ली गई थी जिसमें 9978 पूर्ण कर लिए गए है शेष 316 अभी लंबित है। 316 योजनाओं को वेरीफाई करने का निर्देश दिया। वही 15 वें वित्त से अबतक 4683 योजनाऐं ली गई है। जिसमें 2997 योजनाऐं पूर्ण हो गई है शेष 1686 योजनाऐं अधूरे हैं। अनाबद्ध योजना में 2992 योजनाएं ली गई थी जिसमें 1590 योजनाएं पूर्ण हो गई है शेष 1402 योजनाएं लंबित है। जिस पर उपायुक्त ने अधूरे पड़े सभी योजनाओं को अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया एवं कहा कि जो भी योजनाऐं संचालित हो उसके गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होना चाहिए। बैठक में पंचायती राज विभाग से संचालित अन्य योजनाओं की भी बारी-बारी समीक्षा कर उपायुक्त के द्वारा पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया। वहीं बालू घाट से बालू उठाव, प्राप्त आय एवं व्यय संबंधी, सौर ऊर्जा आधारित पेयजल आपूर्ति योजना, पेवर ब्लॉक अधारित सड़क निर्माण योजना, एलइडी स्ट्रीट लाइट आधारित योजना की भी जानकारी ली गई।

वही जिला परिषद से समीक्षा क्रम में उपायुक्त ने पर्यटन मद से कितनी योजनाएं चल रही है प्रखंडवार जानकारी ली ओर सभी योजनाओं को सितंबर तक पूर्ण करने का निर्देश दिया। 15 वें वित्त आयोग से 188 योजनाएं अपूर्ण है, इन सभी योजनाओं को सितंबर तक पूर्ण कराएं।

मौके पर जिला पंचायती राज पदाधिकारी महेशराम,जिला परियोजना प्रबंधक रीतेश कुमार समेत अन्य विभागीय कर्मी मौजूद थे।