जिंदल स्टील एवं पावर लिमिटेड द्वारा आयोजित किशोरी एक्सप्रेस कार्यक्रम में उपायुक्त ने लिया हिस्सा

किशोरी एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
रामगढ़: जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के सीएसआर विभाग की एक प्रमुख प्रयोजना किशोरी एक्सप्रेस के तहत आयोजित कार्यक्रम में बृहस्पतिवार को उपायुक्त रामगढ़ माधवी मिश्रा ने मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लिया। उन्होंने किशोरियों में एनीमिया को रोकने के उद्देश्य से चलाए जा रहे किशोरी एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उपायुक्त ने कहा कि आज के दौर में एनीमिया एक बड़ी चुनौती है। इसे जड़ से खत्म करने के लिए हम सबका जागरूक रहना काफी जरूरी है। कई बार देखा जाता है की मां के एनीमिया से पीड़ित होने के कारण उसकी संतान में भी कुपोषण सहित अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्याएं देखी जाती हैं। इसलिए अगर हम शुरुआत में ही एनीमिया का सही उपचार करने में सफल होते हैं तो आने वाली पीढ़ी में भी बदलाव ला सकते हैं। मौके पर उपायुक्त ने कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों से खाने में साग, सब्जी, हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल करने तथा एनीमिया के लक्षण दिखने पर तुरंत उसका उपचार कराने की अपील की। वही कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त ने वैसे बुजुर्ग जिनकी देखरेख करने वाला कोई नहीं है के बीच वस्त्र एवं सूखे राशन का भी वितरण किया।

क्या है किशोरी एक्सप्रेस परियोजना

किशोरी एक्सप्रेस जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के सीएसआर विभाग की एक प्रमुख परियोजना है। किशोरी एक्सप्रेस परियोजना को किशोरियों (10-19 वर्ष) में एनीमिया को रोकने के लिए तैयार किया गया है। निर्धारित स्थानों पर हीमोग्लोबिन जांच शिविर आयोजित किए जाएंगे और प्रत्येक किशोरी का वर्ष में कम से कम दो बार स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। यह परियोजना मासिक धर्म स्वच्छता, किशोरी और मातृ स्वास्थ्य पर भी लोगों को जागरुक करने का कार्य करेगी।

इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए एक समर्पित वाहन जिसमे हीमोग्लोबिन का परीक्षण करने के लिए प्रयोगशाला उपकरण, आईएफए टैबलेट, सेनेटरी पैड, आवश्यक सॉफ्टवेयर के साथ कंप्यूटर और आईईसी (सूचना, शिक्षा और संचार) सामग्री मौजूद होंगे।

परियोजना के तहत सरकारी विभागों के सहयोग से पतरातू प्रखंड की लगभग 9000-10000 किशोरियों को प्रतिवर्ष लाभान्वित किया जाएगा।