भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में प्रतिबंध के बाबजूद मुंडन को लेकर उमड़ी भीड़, कोविड 19 नियमों की उड़ी धज्जियां

जिम्मेवार रहे बेखबर, बाजार में भी 4 बजे के बाद भी रही भीड़
चतरा/इटखोरी। 21 जून को प्रतिंबध के बाबजूद इटखोरी प्रखण्ड मुख्यालय स्थित प्रसिद्ध माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में भारी संख्या में लोगों की भीड़ मुंडन संस्कार व पूजा को लेकर उमड़ी। ज्ञात हो कि सरकार द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह लागु करते हुए पूरे राज्य में धार 144 लागु करने के साथ सार्वजनिक स्थानों व मंदिर क्षेत्र में भीड़ लगाने के साथ विवाह व अन्य समारोह के आयोजन पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इसके बाबजूद माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में लोग सवारी वाहन व टेंपो समेत अन्य साधनों से पहुंचे और विधिवत मुंडन संस्कार करवाया व बाहर में पूजा भी किया। इसके अलावे मंदिर क्षेत्र स्थित छठ घाट के समीप विवाह कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। लेकिन सरकारी निर्देशों के अनुपालन कराने के लिए जिम्मेवार खुद बेखबर रहें। जबकी माता भद्रकाली मंदिर प्रबंधन समिति के पदेन अध्यक्ष एसडीओ व सचिव सीओ होते हैं। साथ ही इसमें बतौर सदस्य स्थनिय लोग शामिल हैं। लेकिन किसी ने घंटो क्षेत्र में जमा भीड़ व नियमों के उलंघन पर संज्ञान भी लेना उचीत नही समझा। जबकी ज्ञात हो कि 21 मई को बीडीओ सह प्रभारी सीओ विजय कुमार के द्वारा स्थानिय पत्रकार आनंद कुमार शर्मा सहित 18 के विरुद्ध गांव क्षेत्र में भीड़ से दुर सादे तौर पर विवाह करने पर विभिन्न धाराओं के तहत चंद मिनटों में नामजद एफआईआर दर्ज करवा दी गई थी। उसके बाद से कई बार मंदिर क्षेत्र में भीड़ जमा हुई और समारोहपूर्वक विवाह का आयोजन इटखोरी प्रखंड क्षेत्र में आयोजित की जा रही है, पर बीडओ ने कार्रवाई करना उचीत नही समझाा, जिसकी चर्चा पुनः क्षेत्र में जोरों पर है। यही नही इटखोरी मुख्या बाजार में भी निर्धरीत संध्या 4 बजे के बाद कई दुकानें खुली रहीं और भीड़ भी बगैर नियमों का पालन करते जमा रही लेकिन समाचार लिखे जाने तक संज्ञान नही लिया गया था।