माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र में प्रतिबंध के बाबजूद मुंडन को लेकर उमड़ी भीड़, नियमों के अनुपालन कराने में विफल रही प्रखंड प्रशासन

सुबह से दोपहर तक जमी रही क्षेत्र में भीड़
चतरा। कोरोना संक्रमण के फैलाव से बचाव के लिए सरकार ने भले ही स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह जारी करते हुए कई प्रतिबंध के साथ नियम लागु किए हैं। लेकिन इटखोरी में सरकार द्वारा जारी नियमों का उलंघन प्रखंड प्रशासन के लापरवाही के कारण लोगों द्वारा किए जा रहे हैं। क्षेत्र में जहां कई प्रतिबंधित दुकानें खुल रही हैं। वहीं सड़कों पर अनावश्यक वाहन दौड़ने के साथ भीड़ भी हो रही है। लेकिन प्रखंड प्रशासन नियमों के अनुपालन कराने के प्रति लापरवाह रही है। 31 मई को तो मुंडन संस्कार के मुहूर्त होने के कारण इटखोरी माता भद्रकाली मंदिर क्षेत्र भारी संख्या में लोग विभिन्न संसाधनों से पहुंचे और मुंडन संस्कार कराया। अधिकतर ने मंदिर के मुख्य द्वारा पर ही पूजा अर्चना किया, तो कई ने विभिन्न देवालयों में जाकर पूजा किया। मंदिर क्षेत्र में मुंडन संस्कार का यह सिलसिला सुबह से दोपहर तक चला और जिम्मेवार सबकुछ जानते हुए अंजान बने रहे। जबकी 21 मई को मंदिर क्षेत्र से बाहर सादे तौर पर विवाह करने पर इटखोरी के पत्रकार आनंद कुमार शर्मा सहित 18 परिजनों के विरुद्ध बीडीओ विजय कुमार ने एकतरफा कार्रवाई करते हुए चंद मिनटों में एफआईआर दर्ज करवा कर अपने फर्ज का निर्वहण किया। लेकिन मुंडन संस्कार को लेकर मंदिर क्षेत्र में उमड़ी भीड़ पर किसी प्रकार का संज्ञान नही लिया गया। जबकी मंदिर प्रबंधन समिति के पदेन अध्यक्ष एसडीओ व सचिव सीओ होते हैं। इसके अलावे कई सक्रिय सदस्य हैं। ऐसे में स्वाल उठता है कि अखिर बीडीओ के लिए पत्रकार के विवाह के लिए ही सरकार ने प्रतिबंध लगा रखा था। बीडीओ द्वारा पत्रकार के विरुद्ध एकतरफा कार्रवाई की विभिन्न दलों के नेताओं ने उपायुक्त से जांच कराने की भी मांग की है, लेकिन अब तक इसपर किसी तरह का संज्ञान नही लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *