मेहरमा में डायरिया का कहर, 19 आक्रांत

– स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची शंकरपुर गांव
– सड़क के अभाव में गंभीर मरीजों को खाट पर लादकर लाया गया सीएचसी
विजय कुमार की रिपोर्ट

मेहरमा : प्रखंड के शंकरपुर पंचायत अंतर्गत आदिवासी बहुल करण टोला, झल्ला गांव में डायरिया कहर मचा रहा है। मंगलवार देर रात से 19 लोग डायरिया से ग्रसित हो गए हैं। सभी लोग उल्टी दस्त कर रहे थे। प्रखंड विकास पदाधिकारी के निर्देश पर बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव का सर्वे किया। डायरिया पीड़ित लोगों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाकर इलाज किया जा रहा है।
उक्त गांव में सबसे बड़ी समस्या है कि गांव तक आने जाने के लिए सड़क नहीं है। जिसके कारण बीमार होने पर किसी भी एंबुलेंस या चार पहिया वाहन से बीमार लोगों को अस्पताल तक नहीं पहुंचाया जा सकता है। गांव तक जाने के लिए महज एक पगडंडी है। उसी के सहारे लोग अपने गांव आते जाते हैं।
इधर डायरिया से प्रभावित होकर बीमार होने की सूचना पर बुधवार को मेहरमा के प्रखंड विकास पदाधिकारी कुमार अभिषेक सिंह ने मेहरमा अस्पताल से स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजकर सभी डायरिया लोगों का उचित इलाज करने का निर्देश दिया। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव पहुंचकर पीड़ित लोगों का इलाज शुरू किया। गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों को खाट पर लादकर मेहरमा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। डायरिया से ग्रसित लोगों में मंझली मुर्मू, बहामोय मुर्मू, गैनी किस्कु, मेरी मरांडी, मरांगमय हांसदा, संझली हांसदा, सबी बेसरा, संझली मुर्मू, प्रधान हेब्रम, देवीलाल हेब्रम, पूनम हेब्रम, गंगामुनी हेब्रम, गोपाल सोरेन, सुहागनी हेब्रम समेत अन्य लोग शामिल हैं।