जिला स्तरीय टाना भगत विकास प्राधिकरण कार्यकारिणी समिति की बैठक प्रखण्ड सभागार में सम्पन्न

गुमलाः जिला स्तरीय टाना भगत विकास प्राधिकरण कार्यकारिणी समिति की बैठक उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में प्रखण्ड सभागार में आज सम्पन्न हुई।
बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने बताया कि गुमला जिले में टाना भगत परिवार की कुल संख्या 1182 है। इन परिवारों की कुल जनसंख्या 7258 है। अबतक 389 टाना भगतों को निःशुल्क रसीद वितरण किया गया है तथा 249 टाना भगत उत्ताराधिकारी का दाखिल खारिज निष्पादित किया गया है। 529 टाना भगतों के बीच जमाबंदी मामलों का निष्पादन किया गया है। बैठक में टाना भगत परिवारों को अम्बेडकर आवास योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत एक अतिरिक्त कमरा निर्माण के मामलें की समीक्षा की गई। बताया गया कि स्थायी प्रतिक्षा सूची के अनुसार 162 परिवारों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत एक अतिरिक्त कमरा निर्माण की स्वीकृति दी गई है। जिसमें 12 अतिरिक्त कमरे को पूरा कर लिया गया है। 115 अतिरिक्त कमरों के निर्माण का कार्य प्रगति पर है। शेष 35 अतिरिक्त कमरा निर्माण का कार्य प्रक्रियाधीन है।
टाना भगत विकास प्राधिकरण के नोडल पदाधिकारी सह अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने बताया कि टाना भगतों को गौ पालन के लिए 41 शेड का निर्माण किया गया है।36 परिवारों के बीच 72 गाय का वितरण किया गया है। वैश्विक महामारी कोविड-19 को देखते हुए अन्य परिवारों के बीच गाय वितरण का कार्य पूरा नहीं हो पाया है। टाना भगतों के 10वीं पास बच्चों को रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय में नामांकन योजना के तहत् 36 बच्चों का नामांकन किया गया है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में 10वीं से कम पढ़े हुए 23 तथा वित्तीय वर्ष 2019-20 में 10 बच्चों को कौशल विकास मिशन के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है। टाना भगत छात्र-छात्राओं को प्रतियोगिता परीक्षा हेतु कोचिंग की व्यवस्था प्रस्तावित है। किंतु वैश्विक महामारी के कारण कोचिंग में भी पठन-पाठन का कार्य शुरू नहीं हो पाया है। कौशल विकास के अंतर्गत टाना भगत महिलाओं को कम्बल निर्माण प्रशिक्षण का प्रावधान किया गया है।
मनरेगा अंतर्गत कुल 140 टाना भगतों को लाभान्वित किया गया है। मुख्य रूप से 51 सिंचाई कूप, 09 डोभा और 09 तालाब का कार्य पूरा कर लिया गया है। कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के माध्यम से 683 लाभुकों के बीच बीज वितरण तथा 05 टाना भगतों को ट्रैक्टर एवं 05 टाना भगत को कृषि कार्य के लिए हल उपलब्ध कराया गया है। विद्युत विभाग द्वारा 501 टाना भगत परिवारों के आवास मंे बिजली कनेक्शन दिया गया है। कल्याण विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों में वित्तीय वर्ष 2018-19 में 293, 2019-20 में 290, 2020-21 में 294 तथा 2021-22 में 237 बच्चों का नामांकन किया गया है। टाना भगत परिवार के 894 लाभुकों के बीच शौचालय का निर्माण कराया गया है। टाना भगत समुदाय के 11 छात्राओं को नर्सिंग में प्रशिक्षित किया गया है।
टाना भगत विकास प्राधिकरण की बैठक में नोडल पदाधिकारी ने बताया कि जिला में जतरा टाना भगत की प्रतिमा का निर्माण देवाकी डोम्बाटोली में टाना भगत सामुदायिक सांस्कृतिक भवन का निर्माण, पुगु में जतरा टाना भगत आवासीय कार्यालय का निर्माण, घाघरा प्रखण्ड के चडरी डीपा एवं बदरी पंचायत में पशु चिकित्सालय का निर्माण, घाघरा प्रखण्ड में दूध संग्रह केन्द्र निर्माण के संबंध में प्रस्ताव सरकार के पास स्वीकृति के लिए भेजा गया है। साथ ही सिसई, गुमला, बिशुनपुर एवं घाघरा प्रखण्ड मंे सामुदायिक पुस्तकालय निर्माण का प्रस्ताव भी अनुमोदन के लिए सरकार को भेजा गया है।
बैठक में उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त सहित अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन राजू कच्छप, जिला कल्याण पदाधिकारी अजय जेराल्ड मिंज, जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक सुरेन्द्र पाण्डेय, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सीता पुष्पा, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा खुशेन्द्र सोन केशरी, कार्यपालक अभियंता विद्युत विभाग सत्यनारायण पातर, जिला कृषि पदाधिकारी अशोक सिन्हा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी गुलाम सम्दानी, जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी शिवपूजन राम, जिला उद्यान पदाधिकारी नरेश चौधरी, विधायक प्रतिनिधि रणजीत सिंह सरदार एवं जिले के सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी/अंचल अधिकारी उपस्थित थे।