डीएमएफटी मद की राशि से होगा शैक्षणिक कायाकल्प

– जिले के सभी 9 प्रखंडों में खुलेगा मॉडल स्कूल
– डीसी की अध्यक्षता में हुई बैठक में डीएमएफटी मद की राशि से अगले वित्तीय वर्ष के लिए तैयार की गई शिक्षा विभाग की कार्य योजना

अभय पलिवार की रिपोर्ट

गोड्डा: समाहरणालय स्थित सभागार में सोमवार को उपायुक्त भोर सिंह यादव की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड ट्रस्ट (डीएमएफटी) मद के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 की कार्य योजना बनाने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया गया। बैठक में आगामी वर्ष में किए जाने वाले कार्य योजना जैसे: मॉडल स्कूल, बहुभाषी शिक्षण पद्धति की प्रक्रिया अपनाने हेतु कार्य योजना, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय और छात्रावास में सुविधा बढ़ाने, जिससे कि पठन-पाठन का उपयुक्त माहौल बने, इन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर भी चर्चा की गई।

बैठक में ज्ञानोदय के अधिकारियों की ओर से ज्ञानोदय के कंटेंट, इनपुट सहित अन्य बिंदुओं पर आवश्यक सुझाव दिए गए। स्मार्ट क्लास के माध्यम से बच्चों को अहम जानकारियां प्रदान करने के संबंध में उपायुक्त के द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। बैठक में उपस्थित शिक्षकों ने नई शिक्षा नीति को लेकर अपने विचारों को उपायुक्त के समक्ष रखा।
बैठक में उपायुक्त के द्वारा विभिन्न प्रखंडों में मॉडल स्कूल के निर्माण हेतु अहम जानकारियां प्रदान की गई। ज्ञात हो कि जिले के सभी 9 प्रखंडों में मॉडल स्कूल का निर्माण किए जाएंगे, ताकि बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान की जा सके। बैठक में आगामी मैट्रिक एवं इंटर परीक्षा हेतु सुपर -100 क्लास के आयोजन करने हेतु संबंधित अधिकारियों से विचार-विमर्श किया गया ‌। छात्रवृत्ति से संबंधित मामलों पर भी विचार विमर्श कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए।
बैठक में शिक्षा विभाग के कार्यपालक अभियंता को उप विकास आयुक्त अंजलि यादव ने निर्देश देते हुए के कहा कि जिले में जितने भी बीआरसी के भवन जर्जर हो गए हैं, उसकी सूची प्राप्त कर प्राक्कलन तैयार किए जाएं।
बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा ऋतुराज, जिला शिक्षा अधीक्षक फुलमणी खलको, अतिरिक्त जिला परियोजना पदाधिकारी (एडीपीओ) शंभू दत्त मिश्रा सहित संबंधित विभाग के अधिकारी, शिक्षकगण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *