माता भद्रकाली मंदिर परिसर में दर्जनों की संख्या में पूजा करने पहुंचे श्रद्धालु

दुकानों से खरीदा प्रसाद, बीडीओ एक दुकान सील करने में रहे व्यस्त
इटखोरी(चतरा)। बुध पूर्णिमा के अवार पर 26 मई को दर्जनों की संख्या में इटखोरी प्रखंड मुख्यालय स्थित माता भद्रकाली मंदिर परिसर में पूजा करने श्रद्धालु पहुंचे। मंदिर क्षेत्र में नारियल व पूजा सामग्री हाथों में लिए मुख्य द्वारा के बाहर दिखे। ऐसे में स्पष्ट है कि पूजा दुकान खुले तभी तो श्रद्धालुओं ने प्रसाद खरीदा। जबकी सरकार व उपायुक्त ने सख्त निर्देश दिया है की जिले के कुलेश्वरी व माता भद्रकाली मंदिर के प्रवेश वाले रास्ते को ही बैरेकेटींग कर लोगों के प्रवेश रोकें। ऐसे में स्वाल उठता है कि क्या आदेश का पालन संबंधित दंडाधिकारी के द्वारा नही किया गया, तभी तो श्रद्धालु मंदिर क्षेत्र में पहुंच जा रहे हैं। ऐसे में एक तरफा कार्रवाई बीडीओ ने क्यों की। सूत्रों की माने तो मंदिर क्षेत्र लोगों के पहुंचने व प्रसाद लेने का यह सिलसिला शुबह से दोपहर तक चला लेकिन इस प्रतिबंधित क्षेत्र में लोगों के पहुंचने व दुकाने खुलने की सुध लेने के लिए किसी जिम्मेवार के पास समय नही था। ज्ञात हो कि प्रखंड कार्यालय व बीडीओ आवास से होकर ही श्रद्धालु मुख्यतः माता के दरबार में पहुंचे हैं। वही बीडीओ सह इनसडेंट कमाडर विजय कुमार प्रखंड मुख्यालय में एक प्रतिबंधित दुकान दलबल के साथ सील करने में व्यस्त रहे। क्या मंदिर क्षेत्र में भीड़ लगना प्रतिबंधित नही है और प्रतिबंधित दुकान के विरुद्ध सील कर खानापूर्ति करना प्रतित नही होता है। ऐसे में चर्चा हो रही है कि कोविड 19 को लेकर जारी नियम के अनुपालन को लेकर इटखोरी में सीर्फ खानापूर्ति की जा रही है। एक दुकानदार ने नाम नही छापने के शर्त पर बताया कि हैसत देख दुकाने बीडीओ द्वारा सील की जाती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *