आईआईसीएम के अंदर दोहरी नीति नहीं चलेगी: अजय राय

कोल इंडिया की इकाई आईआईसीएम कांके रांची में मजदूर कर्मचारियों के साथ हो रही दोहरी नीति के खिलाफ आईआईसीएम एंप्लॉय यूनियन के अध्यक्ष अजय राय ने एक ज्ञापन आईआईसीएम के प्रिंसिपल एंपलॉयर श्री डी. आर शर्मा को सौपी।
ज्ञापन के माध्यम से उनसे मांग की गई कि एक ही कैंपस के अंदर 1994 से कार्यरत कर्मचारियों के साथ प्रबंधन भेदभाव पूर्ण नीति अपनाए हुए हैं जो बंद होनी चाहिए।
आईआईसीएम श्रमिक संघ ने उनका ध्यान कैंपस के अंदर अलग-अलग साइट में कार्य कर रहे उन मजदूर कर्मचारियों की ओर दिलाया जो विगत 1994 से आईआईसीएम के स्थापना काल से यहां कार्य करते आ रहे हैं। हर वर्ष जिस तरह अलग-अलग साइट जिसमें गुरुकुल, इलेक्ट्रिकल, गार्डन, हैबिटेट, सिविल में नियुक्त मैनेजर सुपरवाइजर की सैलरी आईआईसीएम द्वारा निर्धारित दर से दोगुना दिया जा रहा है उसी तरह मजदूर कर्मचारियों की भी सैलरी बढ़नी चाहिए।
श्रमिक संघ ने ज्ञापन में कहा कि विगत 5 साल का सभी अलग-अलग साइटों का सैलेरी शीट का अवलोकन किया जाय की किस आधार पर सिर्फ मैनेजर सुपरवाइजर की सैलरी को बढ़ाई गई वही कर्मचारियों के सैलरी में कही कोई इजाफा नही हो पाया है जो अपने आप मे जांच का विषय है ।
आईएसीएम श्रमिक संघ शांतिपूर्ण तरीके से लगातार कैंपस के अंदर सौहार्द पूर्ण वातावरण में काम करते आया है उम्मीद है हमारी मांग को प्रबंधन गंभीरतापूर्वक लेते हुए यहां कार्यरत सभी साइटों के मजदूर कर्मचारियों को उनकी महावारी वेतन को बढ़ाएंगे। साथ ही ज्ञापन में कहा गया कि बहुत सारे कर्मी देर रात काम कर लौटते हैं जिस क्रम में कई बार इनके साथ घटना दुर्घटना होते रहती है। इन परिस्थितियों में रात के पाली में काम करने वाले कर्मियों को लेकर कुछ क्वार्टर उपलब्ध कराने की कृपा करें क्योंकि प्रबंधन की ओर से कुछ मैनेजर्स को भी क्वार्टर आवंटित किया गया है उसी तरह इन कर्मियों के लिए भी कुछ क्वार्टर का आवंटन हो ताकि रात में आने जाने में हो रहे परेशानियों से राहत मिल सके । ज्ञापन में प्रबंधन द्वारा निविदा निकाले जाने में हुई विलंब को लेकर कुछ साइट में कर्मचारी की सैलरी में कमी की है जो गलत है कर्मचारियों की पूरी सैलरी मिलनी चाहिए क्योंकि प्रबंधन की गलती का खामियाजा कर्मचारी क्यों उठाएंगे। साथ ही पूर्व से कार्यरत कर्मी संजीत राम को वापस काम पर रखे जाने की भी मांग की गई। गार्डन के कर्मचारियों को भी सैलरी में काफी भिन्नता है जिसे सही किया जाए और उनका मेहनत आना पूरा दिया जाए।
आईआईसीएम एम्पलाई यूनियन के अध्यक्ष अजय राय ने प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा है कि हमारी मांगों के ऊपर प्रबंधन अगर गंभीरता पूर्वक विचार नहीं करता है तो आईआईसीएम एम्पलाई यूनियन आंदोलन का रुख अख्तियार करेगा । और जल्द ही इस संबंध में रांची के सांसद संजय सेठ के साथ कोल मंत्री से मिलकर पूरी घटना से अवगत कराते हुए कार्रवाई की मांग करेगा।
प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष अजय राय, कार्यकारी अध्यक्ष रमेश साहू अखय बेहरा ,वीर बहादुर सिंह, संजीत राम सहित अन्य कर्मी शामिल थे।