संवेदक के लापरवाही के कारण पानी पानी हुआ बीआरसी भवन

पाकुड़ : जल ही जीवन का नारा देने वाला पेयजल व स्वच्छता विभाग के संवेदक की लापरवाही के कारण जिला मुख्यालय के बीआरसी भवन में प्रतिदिन हजारों लीटर पानी बर्बाद हो रही है।यहाॅ बता दे कि विभाग के द्वारा बीआरसी भवन में पेयजल की आपूर्ति को ले कर वर्ष 2019-20 में 8लाख 16 हजार 221 रूपये की राशि से 4 हजार लीटर क्षमता का जल मीनार निर्माण करवाया गया है विडंबना यह है कि मीनार बनाने वाला संवेदक सरकारी राशि की लूट करने के उद्वेश्य को ले कर मिनार से जलापूर्ति किये जाने वाले पाईप काफी घटिया तरीके का लगा दिया है और इसका नतीजा यह हुआ कि जलमिनार चालू होते ही इन पाईप से पानी बहने लगा और नतिजा यह हुआ कि बीआरसी भवन के मुख्य द्वारा पर पानी का फुआरा बहने लगा और इसके कारण बीआरसी आने वाले अधिकारी व शिक्षक प्रतिदिन पानी पानी होते रहते है।संवेदक के लापरवाही के कारण प्रतिदिन हजारों लीटर पानी भी बर्बाद हो रहा है।वहीं इस बावत पाकुड़ बीपीओ गणेश भगत ने बताया कि मिनार के चालू हेाते ही पाईप लिंक हो गया है और इससे बराबर पानी टपकता रहता है और इसके कारण काफी परेशानी हो रही है।उन्होने कहा कि कई बार संवेदक को इसकी सूचना दी गई हर बार वह अश्वासन देता था परन्तू इधर कुछ दिनों से फोन भी नहीं उठा रहा है।वहीं इस बावत जब विभाग के कार्यपालक अभियंता सुनील कुमार को जानकारी दी गई तो उन्होने इस तंरत संज्ञान लेते हुये जेई को अविलंब पाईप के मरम्म्ति करवाने का निर्देश दिया।