आसचे बोछोर आबार होबे जयघोष के साथ संपन्न हुआ दुर्गा पूजा

पाकुड़िया ( पाकुड़ ) : हिंदु धर्म का सबसे बड़ा त्योहार  दुर्गा पूजा शुक्रवार विजयादशमी को  मां दुर्गा की प्रतिमा के विसर्जन के साथ ही ‘आसचे बोछोर आबार होबे’ के गगनभेदी जयघोष के बीच शांतिपूर्वक संपन्न हो गया । ज्ञात हो कि इस वर्ष एक हृदयविदारक अप्रत्याशित दुर्घटना के कारण देवी का विसर्जन बिना गाजे बाजे एवं जुलूस के साथ सादगीपूर्ण तरीके से पाकुडिया के कापड़ी पोखरघाट पहुँच कर  पूरी निष्ठा श्रद्धा और सम्मान के साथ जगतजननी मां दुर्गा , लक्ष्मी, सरस्वती , गणेश और कार्तिक भगवान की प्रतिमा को जयघोष के साथ पोखर में सादर विसर्जित किया गया । शनिवार  को भी मोंगलाबान्ध गाँव में दुर्गा मेला का आयोजन कर सादगी के साथ माता की प्रतिमा का विसर्जन किया गया ।साथ ही बन्नबग्राम, बीच पहाडी, चौकिसाल,श्रीधरपडा,फूल,झीझीरी सहित अन्य स्थानों पर स्थापित प्रतिमा का बिसर्जन धूमधाम एवं कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए शांतिपूर्ण ढंग से किया गया।