मनरेगा कूप निर्माण के दौरान मिट्टी धसा, दो मजदूर की मौत, एक घायल

दुलमी में कुआं पटाई के दौरान हुई घटना, 9 मजदूर मिलकर कर रहे थे कुआं की पटाई
रामगढ़ से वली उल्लाह की रिपोर्ट
रामगढ़: दुलमी प्रखंड क्षेत्र के दुलमी में मनरेगा कूप के निर्माण कार्य के दौरान कुआं धसने से दो मजदूर की मौत हो गई है। जबकि एक को हल्की चोट आई है। घटना सोमवार की दोपहर लगभग तीन बजे की है। दुलमी निवासी खरोधर महतो अपने मनरेगा कूप में पटाई का कार्य कर रहे थे। इसी क्रम में कुआं धसने से जमसिंग निवासी बरतु महतो व दुलमी निवासी धनेश्वर मुंडा की घटना में मौत हो गई। जबकि जामसिंग निवासी नरेश महतो व जामुआबेड़ा निवासी सुनील बेदिया को चोट आई है। जिन्हें रामगढ़ सदर अस्पताल ईलाज के लिए ले जाया गया है। घटना की जानकारी पर दुलमी बीडीओ विजयनाथ मिश्रा तत्काल वहां पहुँचे और घायलों को अस्पताल पहुंचवाया। घटना की सूचना पर रामगढ़ जिला परिषद अध्यक्ष ब्रह्मदेव महतो, कांग्रेस नेता सुधीर मंगलेश, पूर्व पार्षद राजू महतो सहित कई मौजूद थे।

कैसे हुई घटना

दुलमी निवासी खरोधर महतो के नाम से मनरेगा कूप के लिए स्वीकृत है। बताया जाता है कि सोमवार को इस कूप में नौ मजदूरों द्वारा कुआं पटाई का कार्य किया जा रहा था। जिसके चार मजदूर कुआं के नीचे जबकि पांच ऊपर पटाई के काम मे जुटे हुए थे। चूंकि पिछले कई दिनों से लगातार बारिश हुई थी। अचानक कुआं का मिट्टी धस गया। जिससे कुआं के नीचे काम कर रहे चार मजदूर मिट्टी में दब गए। ग्रमीणों की मदद से तत्काल दो मजदूर को निकाला गया। जबकि दो मजदूर मिट्टी के एकदम निच्चे दब गए थे। लोगों की काफी मशक्कत के बाद अन्य दोनों मजदूरों को भी निकाला। तबतक दोनों की जान जा चूंकि थी।

मृतक के परिजनों को मिलेगा एक लाख मुआवजा

घटना के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए ले जाने के दौरान मृतक के परिजनों ने मुआवजा की मांग की। इस दौरान दुलमी बीडीओ विजयनाथ मिश्रा ने मृतक के परिजनों को 75000 रुपया मनरेगा व 25 हजार रुपया सामाजिक सुरक्षा योजना से कुल एक लाख रुपया दोनों के परिजनों को देने की घोषणा की। जिसके बाद रजरप्पा पुलिस द्वारा शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। बीडीओ ने बताया कि दोनों मृतक मनरेगा मजदूर है। लेकिन 15 दिन पूर्व ही बारिश को देखते हुए मनरेगा कार्य बंद करने का निर्देश दिया गया था।