गम्भीरता के साथ रमणीकता ही जीवन को सार्थक बनाता है : बीके मानिनी

रामगोपाल जेना

चक्रधरपुर । स्थानीय थाना रोड के समीप प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय, माउंट आबू (राजस्थान) की ब्रह्माकुमारीज पाठशाला,चक्रधरपुर परिसर में आज परमपिता शिव परमात्मा को सद्गुरुवार का भोग स्वीकार कराया गया । साथ ही शिक्षक दिवस मनाया गया । इस अवसर पर ब्रह्माकुमारीज पाठशाला,चक्रधरपुर की प्रभारी बी.के.(डॉ.) मानिनी बहन ने कहा कि आज मानव माया के चक्कर मे सद्गुरु की सीख से दूर होता जा रहा है । जबकि उनके द्वारा बताए गए मार्ग पर चलकर व गम्भीरता के साथ रमणीकता लाकर ही जीवन को सार्थक बना सकते है । जो सीधे ईश्वर से मनुष्य को जोड़ता है । ऐसा श्रीमत दूसरे कोई भी सत्संगों में नही मिलता है । इससे पहले परमात्मा के महावाक्यों का पाठ किया गया तथा उन्हें भोग स्वीकार कराया गया । समारोह के दूसरे पाली में ततपश्चात शिक्षक दिवस को याद करते हुए बीके शक्ति ने परम शिक्षक का तस्वीर व पाठशाला के वरीय सदस्य बीके रामभरत ने परमात्मा के निमित्त पाठशाला प्रभारी बी.के.(डॉ) मानिनी को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया । जबकि बीके सत्यवामा ने फूल देकर परमात्मा के प्रति स्नेह व प्रेम के अटूट सम्बन्ध को दर्शाया । अंत मे बी.के. मानिनी ने सभी को परमात्मिक दृष्टि के साथ अमृत व प्रसाद दिया । मौके पर अनिल,कनकलता,पूनम, गीता,संगीता ,ज्योत्स्ना,सुशीला,रीता,सुलेखा,लतिका,लीलावती,स्वरूप मुख्य रूप से शामिल हुए ।