भरनो के कठैतकुरा गांव में हाथियों ने मचाया उत्पात, कई घरों को किया ध्वस्त

गुमला से बसंत गुप्ता की रिपोर्ट

गुमला : भरनों प्रखंड के करंज थाना अन्तर्गत कठैतकुरा गाँव में बीती रात जंगली हाथी ने जमकर उत्पात मचाया । ग्रामीणों ने रात जगा कर भय के माहौल रात बिताया । मिली जानकारी के अनुसार रात करीब दो बजे गाँव के ही राजू खड़िया के घर को पूरी तरह बर्बाद कर दिया और घर में रखे समूचा अनाज धान गेहूँ चावल को चट कर गया ये परिवार के लोगो के लिये अब भरण पोषण के लिये विकट समस्या उत्पन हो गया है। जिस कमरे ये लोग रहते हैं उसका क्षेत्रफल लगभग पंन्द्रह फीट ही है जिसमें परिवार छ सदस्य रहते हैं लेकिन कारण वश एक सप्ताह पहिले राजू के माता पिता परिवार के सदस्य कमाने के लिये बाहर पलायन कर चुके हैं और उस कमरे में राजू और उसकी पत्नी ही थे जो समय रहते जाग कर अपना जान बचाया । इसके बाद जेएमएम बरिष्ठ कार्यकर्ता जयराम खडिया के खेत में लगे फसल गोड़ा धान का फसल को हाथी ने पूरी तरह खा पीकर रौद डाला ।
इससे पूर्व दस पंन्द्रह दिन पहले जंगली हाथी ने गाँव के शोभनाथ साहु, नरेन्द्र साहु,एवं सोमा खड़िया के घर एवं को नुकसान पहुचाया जिसमें रात को ही वन बिभाग के पदाधिकारी आये थे पर आज तक ये तीनों का किसी प्रकार के अार्थिक क्षतिपूर्ति का कोई पहल नहीं किया गया।अगर इस बार भी हाथी से सुरक्षा और आर्थिक क्षति पूर्ति का पहल नहीं किया गया तो गाँव के ग्रामीणों ने वन बिभाग को घेराव करने का मन बना रहें हैं । क्योंकि क्षेत्र में सन 1985 इस्वी से यहाँ के जनता हाथी के साथ साथ जंगली सूवर ,भालू ,के आतंक से परेशानी झेल रहे हैं और वन विभाग इतना निष्ठुर है कि सूचना देने पर भी अश्वासन देकर चले जाते हैं और बहुत से लोगो का अभी तक आर्थिक नुकसान का क्षतिपूर्ति नहीं मिल पाता है वन बिभाग को सूचना देने पर सिर्फ पटाखा देकर चले जाते हैं । इस क्षेत्र के जोरेया, मालादोन, तेतरबीरा, सलकेया ,चितागुटू , रेड़वा, नरसिंहपुर, बोड़ेकेरा दुवरसीनी महराजगंज के अलावे सैकड़ो गाँव हाथी के आतंक से परेशान हैं ।