जमीयत ओलमा की बैठक में बच्चों को शिक्षित करने पर जोर

पाकुड़ : जिला मुख्यालय के मधपाड़ा मस्जिद में बुधवार को जमीयत ओलमा की एक अहम बैठक हुई जिसमें बच्चों को शिक्षित करने पर जोर दिया गया .बैठक जमीयत ओलमा के जिला सदर मौलाना अंजर कासमी की अध्यक्षता में हुई अपने खेताब में मौलाना कासमी ने कहा कि जमीयत ओलमा पूरे मुल्क में बच्चों को इल्म की रोशनी से आरास्ता करने कई योजना पर काम को अंजाम दे रही है जिसमे दिनी और दुनियाबी शिक्षा सामिल है इसको लेकर 100 कोचिंग सेंटर चलाया जा रहा है जिसमे कमजोर बच्चों को जात पात से उठकर शिक्षा दी जाती है ताकि वह खुद को कामयाब कर सके कासमी ने कहा कि शिक्षा का हासिल करना अनिवार्य है बगेर शिक्षा के अच्छे और बुरे की पहचान नही हो सकती है अपने मजहब को जानना है तो शिक्षित होना जरूरी है शिक्षा के कमी से समाज मे कई बुराइया आम हो जाती है उन्होंने ने लड़कियों को शिक्षित करने पर जोर दिया कासमी ने कहा कि आज समाज मे शादी ब्याह के नाम पर कई बुराइया आम हो गयी है दहेज जो समाज के लिए नासूर बना है इसको खत्म होना चाहिए उन्होंने मुस्लिम भाइयो से अपील की के अपने बच्चों की शादी इस्लामिक तरीका पर करे फिजूल खर्ची की इजाजत इस्लाम मे नही है आज जो हालत है इसपर गौर करते हुए अल्लाह से दुआ करे के जो हालात मुल्क में आये है खत्म हो।मौके पर हाफिज तनवीर ,मौलाना इम्तियाज़ कासमी ,हाफिज इशरार नबवी ,वकील ,शरफुजममः सुलेमान मुसना साहेब समेत दर्जनों लोग मौजूद थे.