तृतीय लहर के पहले शिशु वार्ड की व्यवस्था सुनिश्चित करें : उपायुक्त

कोविड जिला टास्क फोर्स की बैठक संपन्नकोविड जिला टास्क फोर्स की बैठक संपन्न

: टीकाकरण अभियान में मनरेगा मजदूरों को सभी पंचायत टीकाकरण केंद्र में वैक्सीन देने की व्यवस्था की जाए- डीडीसी: विशेष टीकाकरण अभियान की सफलता के लिए समाज के हर वर्गों को सामूहिक रूप से सहभागिता की आवश्यकता- अपर समाहर्त्ता
गुमला : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के नियंत्रण एवं रोकथाम के मद्देनजर उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में गुमला जिलांतर्गत कोविड-19 के द्वितीय चरण के टीकाकरण से संबंधित जिला स्तरीय कार्यबल की बैठक आईटीडीए भवन स्थित उपायुक्त के कार्यालय वेश्म में की गई।
बैठक में उपायुक्त ने जिले में कोविड-19 टीकाकरण के आच्छादन को बढ़ाने की दिशा में स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देश के आलोक में माह जून 2021 के दौरान प्रत्येक साप्ताहांत (शुक्रवार, शनिवार एवं रविवार) कोविड-19 टीकाकरण गहन अभियान चलाए जाने की जानकारी दी। इस संबंध में उन्होंने निर्धारित किए गए लक्ष्य समुचित माइक्रो प्लानिंग, 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के योग्य लाभुकों को पूर्व चिन्हित करते हुए उनके नजदीकी कोविड-19 टीकाकरण केंद्र (सीवीसी) तक लाने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने बताया कि उपर्युक्त के क्रम में विभाग स्तर से जिले हेतु निर्धारित लक्ष्य 5800 प्रति लक्षित समूह के आलोक में प्रखंडवार/ पंचायतवार टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। उन्होंने टीकाकरण हेतु योग्य लाभुकों को उनके नजदीकी कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों तक लाने हेतु सामाजिक उत्प्रेरणा लाने में जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी एवं डीपीएम जेएसएलपीएस की भूमिका को एहम बताया। उन्होंने डीपीएम जेएसएलपीएस को आमजनों में सामाजिक उत्प्रेरणा जागृत करने के लिए सभी बीपीएम को एसएचजी के माध्यम से सामाजिक उत्प्रेरण हेतु अपना सक्रिय सहयोग प्रदान करने का निर्देश दिया।
बैठक में उपायुक्त ने इस गहन टीकाकरण अभियान के माध्यम से टीकाकरण के प्रति फैलने वाली भ्रांतियों पर भी अंकुश लगाने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने सभी सी.वी.सी में आने वाले लाभुकों के लिए पानी, बैठने की उचित व्यवस्था, सैनेटाइजर एवं मास्क अनिवार्य रूप से संधारित करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने प्रत्येक टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण हेतु पंजीकृत होने वाले लाभार्थियों की डाटा प्रविष्टि समय पर कोविन पोर्टल पर सुनिश्चित करने पर विशेष जोर दिया। साथ ही उन्होंने प्रत्येक सीवीसी पर टीकाकरण प्रारंभ होने से 30 मिनट पूर्व ही टीकाकरण से संबंधित टीम के सभी सदस्यों को सीवीसी पर एकत्रित होने का भी निर्देश दिया। जाँच के दौरान समय पर सीवीसी में उपस्थित न पाए जाने पर उन्होंने संबंधित सदस्यों के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
बैठक में उपायुक्त ने अधिक से अधिक व्यक्तियों के टीकाकरण को लेकर जिले के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला कोविड अस्पताल सहित सभी टीकाकरण केंद्रों पर सेल्फी बूथ अधिष्ठापित करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने सेवा प्रदात्ता के अंतर्गत जिला आपूर्ति पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी तथा जेएसएलपीएस के डीपीएम को उनके विभाग के अंतर्गत कार्यरत कर्मियों, जन वितरण प्रणाली के दुकानदार, एसएचजी की दीदीयाँ, आंगनबाड़ी सेविका/ सहायिका, सहिया आदि के टीकाकरण के लिए माईक्रो प्लान बनाकर कार्य करने तथा प्रतिदिन टीकाकृत होने वाले लाभुकों की संख्या, पता आदि निर्धारित प्रपत्र में प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया। जिससे कोविन पोर्टल पर इसकी प्रविष्टि नियमित रूप से हो सके।
बैठक में उपायुक्त ने सिविल सर्जन को जिले में पीएसए प्लांट की अधिष्ठापन तथा आईसीयू एवं वेंटिलेटर की अद्यतन स्थिति से अवगत कराने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने जिले में पीएसए प्लांट के अधिष्ठापन हेतु रिक्विजिशन तैयार कर भेजने का भी निर्देश दिया।
उपायुक्त ने कोरोना वायरस के संभावित तीसरे लहर से बचाव के निमित्त जिले में बच्चों के ईलाज हेतु पीडीयैट्रिक वार्ड की स्थापना के अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में डीपीएम स्वास्थ्य द्वारा बताया गया कि पीडियैट्रिक वार्ड में 53 बेडों की व्यवस्था कर दी गई है। जिसमें से 36 बेडों को पाइपलाईन के माध्यम से नियमित ऑक्सिजन आपूर्ति की सुविधा से जोड़ा गया है तथा शेष 17 बेडों को कंसन्ट्रेटर से जोड़ा गया है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को नर्सिंग कौशल कॉलेज में बनने वाले पीडियैट्रिक्स वार्ड में 100 बेडों की व्यवस्था सहित अन्य चिकित्सीय सुविधाओं को अगले एक सप्ताह के अंदर बहाल करने का निर्देश दिया।
बैठक में उपायुक्त ने जिले में अवस्थित कोविड अस्पताल में निर्बाध ऑक्सिजन व्यवस्था सुदृढ़ करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने अधिक से अधिक बेडों को पाइपलाइन के माध्यम से निर्बाध ऑक्सिजन सुविधा बहाल करने पर जोर दिया।
उपायुक्त ने सप्ताहांत में चलने वाले त्रिदिवसीय गहन टीकाकरण अभियान के प्रचार-प्रसार सहित मोबाइल वैन द्वारा टीकाकरण सुविधा एवं 45 से अधिक आयुवर्ग के लोगों के टीकाकरण के लिए जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था का आम नागरिकों के बीच प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस संबंध में जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ने बताया कि सूचना जनसंपर्क निदेशालय द्वारा जिले में टीकाकरण अभियान, कोविड समुचित व्यवहार, कोरोना संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम के उपाय विषयक फ्लैक्स-बैनर उपलब्ध कराया गया है। जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ने आगे बताया कि जिले के सभी 12 प्रखंड के अंतर्गत पंचायत भवन, आंगनबाड़ी केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/ उपकेंद्र, टीकाकरण केंद्र में प्रचार-प्रसार के लिए उक्त पोस्टर उपलब्ध कराया जा रहा है। गुमला, घाघरा, बिशुनपुर, रायडीह, डुमरी, जारी, सिसई, पालकोट प्रखंड में प्रचार के लिए फ्लैक्स-बैनर आवंटित कर दिया गया है। चैनपुर, बसिया, कामडारा तथा भरनो प्रखंड में कल फ्लैक्स-बैनर उपलब्ध करा दिया जाएगा। इसके साथ ही नगर परिषद क्षेत्र में सभी प्रमुख चौक-चौराहा, बस स्टैण्ड, सार्वजनिक कार्यालय, व्यापारिक प्रतिष्ठान एवं हाट-बाजार क्षेत्रों में प्लैक्स के माध्यम से कोविड-19 का प्रचार-प्रसार कर आम नागरिकों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है।
बैठक में अपर समाहर्त्ता सुधार कुमार गुप्ता ने पीएसए प्लांट के संबंध में बताया कि जिले में पीएसए प्लांट की अधिष्ठापना हेतु स्थल का चयन कर लिया गया है। वर्तमान में शेड के निर्माण सहित प्लांट के संचालन हेतु 150 केवी के विद्युत व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा 150 केवी के जेनरेटर के अधिष्ठापन पर विशेष जोर दिया।
अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने प्रत्येक सीवीसी पर 45 वर्ष से अधिक तथा 18 वर्ष से 44 वर्ष के लाभार्थियों के टीकाकरण हेतु अलग-अलग टीकाकरण टीम का गठन करने का निर्देश दिया। जिन-जिन अस्पतालों में तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ऑक्सिजन की सुविधा बहाल की गई है वहां अग्निशमन सुरक्षा के लिए निर्धारित मापदंड के अनुसार फायर किट का संधारण एवं एनओसी उपलब्ध कराने के लिए अग्निशमन पदाधिकारी को जिला स्वास्थ्य प्रबंधक के साथ समन्वय बनाकर इस दिशा में कार्य करने का निर्देश दिया।
बैठक में उपायुक्त सहित उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, सिविल सर्जन डॉ.विजया भेंगरा, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला पंचायती राज पदाधिकारी मोनिका रानी टूटी, जिला सहकारिता पदाधिकारी कुमोद कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सीता पुष्पा, जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक सुरेंद्र पाण्डेय, डीपीएम स्वास्थ्य जया रेशमा खाखा, डीपीएम जेएसएलपीएस मनीषा सांचा, विश्व स्वास्थ्य संगठन के डॉ. मृत्युंजय, यूनिसेफ के प्रतिनिधि पवन कुमार, अग्निशमन पदाधिकारी एवं एसएमपीओ रेचल जोजोवार उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *