मानव तस्करी के मुद्दे पर मीडिया के साथ फोकस ग्रुप चर्चा आयोजित

गोड्डा: इस जिले में मानव तस्करी की रफ्तार धीरे धीरे जोर पकड़ती जा रही है। गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा आदि के कारण मानव तस्करों का धंधा परवान चढ़ता जा रहा है। इस पर रोक लगाने के लिए कतिपय सामाजिक संगठनों की ओर से पहल कदमी शुरू हो गई है । इसी क्रम में ओक फाउंडेशन और एफएक्सबी सुरक्षा के सौजन्य से साथी संस्था द्वारा प्रधान कार्यालय के सभागार में मानव तस्करी मुद्दे पर मीडिया के साथ फोकस ग्रुप चर्चा का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के उद्देश्य को बताते हुए साथी के निदेशक डॉ नीरज कुमार ने कहा कि गोड्डा जिला में बढ़ते मानव तस्करी की जमीनी हकीकत को समझने और इसे रोकने में स्टेक होल्डर को संवेदनशील करते हुए उनकी भागीदारी को सुनिश्चित करना है। डॉ कुमार ने बताया कि अब तक जनजाति बहुल बोआरीजोर प्रखंड के 14 गांव में ग्राम प्रधान, पंचायत प्रतिनिधि, महिला समूह, किशोरी समूह के साथ समूह चर्चा किया गया है। चर्चा की अगली कड़ी में मीडिया के साथ मंथन हो रहा है।
उन्होंने कहा कि अब तक समूह चर्चा के दौरान कई तरह की बातें सामने आई है। परिवार पहले काम के लिए पलायन करता है और वहीं से मानव व्यापार का रूप ले लेता है। कहीं शादी के नाम पर, तो कहीं रोजगार के नाम पर किशोरी और महिलाओं को काम के लिए देश के विभिन्न शहरों में ले जाया जाता है। लंबे समय तक वापस नही आने पर परिवार को पता चलता है कि उनकी बेटी बिक गई है।
उन्होंने कहा कि इस जिले में बाल एवं महिला व्यापारी करण की स्थिति गंभीर है। भोले भाले, गरीब जनजातीय समाज के लोग बहकावे में आकर बेटी को गरीबी दूर करने के लिए महानगरों में भेज देते हैं। मानव तस्करों का जाल गांव- गांव में फैला हुआ है। भूख, गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, नशापान आदि के कारण मानव तस्करों का जाल मजबूत होता जा रहा है। मानव व्यापारियों के एजेंट जगह जगह सक्रिय हैं। कई मामलों में तो यह भी देखा गया है कि ग्राम प्रधान तक को मानव तस्करी की जानकारी नहीं रहती।
मौके पर वरिष्ठ पत्रकार किशोर कुमार झा ने कहा कि इस मुद्दे को लेकर समाज में जागरूकता लाने की जरूरत है। जो तथ्य समाज से निकल कर आता है, उसे मीडिया अपने तरीके से पदाधिकारी और समाज के सामने ले जाएंगे। पत्रकार निरभ किशोर ने कहा कि मानव तस्करी की स्थिति तो पहाड़ी क्षेत्र में है। शिक्षा, और गरीबी के कारण लोक लुभावन में आकर तस्करी के शिकार हो जाते है। इंडियन पंच के अभय पलिवार ने कहा कि मीडिया के लिए यह संवेदनशील मुद्दे हैं। मीडिया भी मानव तस्करी के मुद्दे पर काम कर गोड्डा से इस कलंक को मिटाना चाहती है।
कार्यक्रम में साथी के अमर कुमार ठाकुर, सत्यप्रकाश, अश्विनी कुमार सिंह, पत्रकार नवीन कुमार झा, गौरव झा, अमित सिंह, शिवेष कुमार मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन साथी के कालेश्वर मंडल ने किया।