बरसों से एक ही जिले में पावर पैरवी और पैसे के बल पर मलाईदार कुर्सी पर बैठे हैं अधिकारी एवं कर्मचारी: महेंद्र पाठक

पथ प्रमंडल रामगढ़ , आर ई ओ सहित कई कार्यकारी एजेंसियों में बरसों से जमे अधिकारियों के स्थानांतरण लिए भाकपा नेता ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र।

रामगढ। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य सह झारखंड राज्य के सहायक सचिव महेंद्र पाठक ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि ,रामगढ़ जिले के ग्रामीण कार्य विभाग ,ग्रामीण कार्य मामले पथ प्रमंडल रामगढ़ , पथ निर्माण विभाग ग्रामीण विकास विभाग, पीडब्ल्यूडी एवं पीएचइडी जैसे कार्यकारी एजेंसियों में कई अधिकारी ,कैसियर और कर्मचारी वर्षों से सेवा दे रहे हैं। जबकि सेवा नियमावली के तहत 3 वर्षों में स्थानांतरण होते रहता है। लेकिन यहां पर स्थानांतरण होने के बावजूद पावर पैरवी और पैसे के बल पर एक ही जगह पर जमे हुए हैं, जिसमें ठेकेदारों के मिलीभगत से वैसे लोगों को फायदा पहुंचाया जाता है। क्योंकि वह कुर्सी वाले बाबू रामगढ़ सहित दूसरे जिलों के भी टेंडर मैनेज करने में महारत हासिल किए हुए। इसीलिए नीचे से ऊपर तक मनी मैनेजमेंट के बल पर एक ही जगह पर जमे हैं। भाकपा नेता महेंद्र पाठक ने मुख्यमंत्री को लिखा है कि ,जब कोई अधिकारी या कर्मचारी वर्षों से एक ही जिले में एक ही पदों पर रहता है। भ्रष्टाचार का बढ़ावा मिलता है। इसीलिए सेवा नियमावली के अनुसार वर्षों से एक ही जिले में एक ही जगह पर अधिकारियों को चिन्हित कर स्थानांतरण किया जाए। ताकि भ्रष्टाचार पर रोक लगाया जा सके। रामगढ़ छोटा जिला होने के बावजूद यहां पर अधिकारी या कर्मचारी वर्षों तक क्यों रहना चाहते हैं। जानकारी मिली है , इस से अनुमान लगाया जा सकता है । महेंद्र पाठक माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की से अपने पत्र के माध्यम से आग्रह किया बरसों से एक ही जगह पर जमे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को स्थानांतरण किया जाए। ताकि अच्छी सेवा लोगों को मिल सके और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सके।