अवैध रूप से जंगल में बनाई गई सड़क में वन विभाग ने लगाए पौधे

विभाग के इस कार्यक्रम की क्षेत्र में हो रही चर्चा
टंडवा(चतरा)। वन विभाग द्वारा गुरुवार को टंडवा थाना क्षेत्र में संचालीत सीसीएल की आम्रपाली कोल परियोजना क्षेत्र में वन महोत्सव कार्यक्रम के तहत अवैध रुप से वन भूमि पर बनाए गए सड़क में पौधारोपण किया गया। डीएफओ एसके सुमन के नेतृत्व में वन कर्मियों द्वारा लगभग 200 करंज, नीम व सागवान के पौधे कुमरांग कला के बेरिया टांड (बघनोचवा) जंगल में सीसीएल के ट्रांसपोर्टरों द्वारा बनाए गए सड़क पर लगाए गए। ज्ञात हो कि उक्त सड़क से कोयला ढुलाई आम्रपाली से फुलवरिया साइडिंग तक होती थी। डीएफओ श्री सुमन के अनुसार अवैध रुप से सड़क बनाने को लेकर कोल परिवहन कंपनी के विरुद्ध सीजेएम के न्यायालय में वाद लंबित है। वहीं श्री सुमन ने पुछे जाने पर बताया कि परियोजना क्षेत्र में जहां भी अतिक्रमण का मामला संज्ञान में आता है, भारतीय वनाधिकार अधिनियम 1927 के धारा 33 के तहत कार्रवाई की जाएगी। जिसका निर्देश वनक्षेत्र पदाधिकारी मुक्ति प्रकाश पन्ना को दे दिया गया है। साथ हीं, वनक्षेत्रों से होने वाले बालू परिवहन पर वाहन जब्त कर कार्रवाई करने की भी बात कही। हालांकि, वन विभाग के इस कार्यक्रम की चर्चा क्षेत्र में भी जोरों पर है। सूत्रों के अनुसार मगध-आम्रपाली क्षेत्र में कई जगहों पर कोल परिवहन जारी होने के बावजूद सिर्फ विशेष कंपनी को टारगेट कर ऐसी कार्रवाई की जा रही है। इस कार्यक्रम में डीएफओ व रेंजर के अलावे प्रकाश पन्ना, वन पदाधिकारी सुरेन्द्र सिंह, प्रमुख सीताराम साव, वनरक्षी राकेश सिंह सहित अन्य वनकर्मी शामिल थे।