पूर्व मुखिया अपने दिवंगत पुत्र का मनाया दूसरी पुण्यतिथि, कहा- सोची समझी साजिश के तहत मेरे पुत्र की हत्या की गई थी

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही (हजारीबाग) : धनवार पंचायत के पूर्व मुखिया सह वरिष्ठ समाजसेवी राजेंद्र प्रसाद कुशवाहा का पुत्र दीपक कुमार की मौत दो वर्ष पूर्व 20 अक्टूबर को हजारीबाग में नीलाम्बर-पीताम्बर चौक के पास संदेहास्पद स्थिति में हो गई थी। जिसके बाद उनके पिता राजेंद्र प्रसाद अपने आवास पर अपने पुत्र की पुण्यतिथि प्रत्येक वर्ष मनाते आ रहे हैं। बुधवार को अपने पुत्र की याद में दूसरी पुण्यतिथि मनाई। मौके पर उपस्थित लोगों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया। वही दो मिनट का मौन धारण कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। मौके पर समाजसेवी राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि मेरे पुत्र की मौत का खुलासा अब तक नहीं हो पाया है, लेकिन घटना को सड़क दुर्घटना के रूप में दर्शाया गया। जबकि हमने कई बार प्रशासन से गुहार लगा चुके है कि, यह सड़क दुर्घटना नहीं बल्कि सोची समझी साजिश के तहत उनके पुत्र की हत्या की गई है। कार्यक्रम में भजापा उत्तरी छोटानागपुर के प्रमंडलीय प्रभारी किशुन यादव, भाजपा जिला उपाध्यक्ष रमेश ठाकुर, धनवार प्रधान नकुल प्रसाद, शिक्षक जय गोविंद प्रसाद, निजामुद्दीन अंसारी, प्रकाश साहू, ब्रह्मदेव यादव, नरेश प्रसाद, अशोक यादव, दामोदर प्रसाद वर्मा, दिलीप केसरी, तिलक यादव, अजय प्रसाद कुशवाहा, तारकेश्वर प्रसाद, राजकुमार प्रसाद, महेंद्र रविदास, केशो यादव, दिनेश यादव, सुनील केसरी, प्रकाश प्रसाद, नंदलाल प्रसाद, संतोष प्रजापति, कमलेश कुशवाहा, दिवाकर प्रसाद कुशवाहा, राजकुमार प्रसाद, राजेश कुशवाहा, राजन प्रसाद, महेंद्र प्रसाद, रामजी प्रसाद, संजय प्रसाद कुशवाहा, परमेश्वर प्रसाद, विनोद प्रसाद, घनश्याम प्रसाद आदि मौजूद थे।