चार दिवसीय ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता का हुआ समापन 

बोकारो: बोकारो स्टील सिटी कॉलेज की ओर से चार दिवसीय ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता का आयोजन 9 मई से लेकर 12 मई तक ‘ कोरोना संक्रमण एवं प्रतिरोधक क्षमता ‘ विषय पर किया गया जिसमें इंटरमीडिएट व डिग्री के सैकड़ो विद्यार्थियों की उपस्थिति रही । विद्यार्थियों के निबंध के महत्वपूर्ण बिंदु –

इंटरमीडिएट की साछि कुमारी एकजुट होकर हम कोरोना को मात दे सकते ।

सेमेस्टर 1 से जीतू कुमार ने कहा – पौष्टिक आहार , विभिन्न सप्लीमेंट का सेवन एवं शारीरिक व्यायाम से प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा कर रख सकते ।

सेमेस्टर 1 के धीरज कुमार ने कहा – सुरक्षा ही बचाव है । अपने हाथ पैर चेहरे को नियमित साबुन से धोते रहनी है । दूध में हल्दी डालकर पीने से हमारी प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है ।

सेमेस्टर 1 से सुजाता कुमारी ने कहा – हमेशा मास्क लगाने की जरूरत , साथ ही साथ वैक्सीन टिका के दोनों डोज लेना सुरक्षा हेतु जरूरी ।

सेमेस्टर 3 की स्वेता तिवारी ने कहा – फल एवं सब्जियों का अधिक से अधिक सेवन , नशा व तनाव मुक्त दिनचर्या से प्रतिरोधक शक्ति मे वृद्धि कर सकते हैं ।

सेमेस्टर 3 से चांदनी कुमारी ने कहा – घर में मेहमान न बुलाएं ना किसी के घर जाएं । घर में रहकर संक्रमण के सिलसिले को हराया जा सकता है ।

सेमेस्टर 3 के सोमी कुमारी ने कहा – देश हित में हम सब कदम उठाएंगे और कोरोना को हराये बिना हार नहीं मानेंगे । बिना घबराये हम अपनी प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ा कर रख सकते ।

सेमेस्टर 3 की अनिशा यादव ने कहा – सकारात्मक सोच , आशावादी दृष्टिकोण , मन को खुश रखकर अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाये रख कोरोना को मात सकते ।

सेमेस्टर 3 की कांति कुमारी ने कहा – डर मुक्त रहकर आत्मबल बढ़ा हम अपने शरीर में साहस का संचार ला सकते । आत्मबल टॉनिक का कार्य इम्यून के लिए

सेमेस्टर 3 की खुश्बू कुमारी ने कहा – कोरोना मानव प्रजाति के लिये विनाशकारी अतः घर में रहना , पृथक कर लेना समझदारी कार्य , हमारी अपनी सुरक्षा इम्यून को बढ़ा रही है ।

सेमेस्टर 5 के अभिषेक आनंद ने कहा आयुर्वेद के सहारे गिलोय आंवला के अधिक सेवन से हम अपने स्वास्थ्य को उन्नत बना सकते हैं । प्रतिरोधक क्षमता अगर अच्छी रहेगी तो कोरोना छू भी नही सकेगा ।

सेमेस्टर 5 के ही इंद्रजीत कुमार ने कहा कि कोरोना विज्ञान पर भारी होता दिख रहा है , घर में रहें सुरक्षित रहें । सुरक्षित मन इम्यून को बढ़ाता है ।

सभी संकायों मे से कुछ बेहतर निबंध सारों का उल्लेख जिन्हें प्राचार्य के माध्यम से पुरस्कृत किया जाना है ।

विभाग के शिक्षक डॉ प्रभाकर कुमार ने बतलाया कि ऑनलाइन शिक्षा के साथ साथ रचनात्मक अभिव्यक्ति विद्यार्थियों के जीवन वृत्त मे सकारात्मकता को स्थान दे रही है । विभाग लगातार विद्यार्थियों को विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफार्म की सहायता से कोरोना जागरूकता का हर संभव प्रयास कर रही है ।