झारखंड, विधानसभा की सामान्य प्रयोजन समिति जिले के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर अवैध खनन रोकने का दिया निर्देश

सड़क निर्माण के साथ-साथ नियमावली के अनुरूप वृक्षारोपण करने का भी दिया निर्देश

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट

गढ़वा: सोमवार को झारखंड विधानसभा के सामान्य प्रयोजन समिति की बैठक परिसदन भावन मैं आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता समिति के सभापति सह विधायक सरयू राय ने की तथा समिति के सदस्य के रूप में विधायक भानु प्रताप शाही, अनंत कुमार ओझा व दीपिका पांडेय सिंह मुख्य रूप से उपस्थित थे।

समिति के सदस्यों के द्वारा जिले के उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक की उपस्थिति में समिति के विभिन्न प्रतिवेदनों में की गई अनुशंसाओं के क्रियान्वयन तथा जिला में राज्यहित एवं जनहित से संबंधित विषयों पर आवश्यकता अनुसार जिले के संबंधित पदाधिकारियों के साथ विचार- विमर्श किया गया। मौके पर विधानसभा के सामान्य प्रयोजन समिति के सभापति सरयू राय ने खनन विभाग, वन विभाग, विद्युत, शिक्षा, कृषि, समाज कल्याण समेत अन्य विभागों द्वारा अब तक किए गए कार्य की वर्तमान स्थिति का जायजा लिया।

बैठक में श्री राय ने वन पर्यावरण एवं खनन विभाग के कार्यों की समीक्षा के क्रम में एनजीटी (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) के नियमों का पालन करते हुए अवैध खनन पर रोक लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने अवैध रूप से खनन के संदर्भ में दोषी पाए जाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई करने तथा अवैध खनन को पूर्णतया प्रतिबंधित करने की बात कही। सभापति के द्वारा पीडब्ल्यूडी व वन विभाग से सड़क निर्माण के साथ-साथ नियमावली के अनुरूप सड़क के किनारे वृक्षारोपण के कार्यों का भी जायजा लिया तथा उपायुक्त को अपने स्तर से इसकी समीक्षा करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही ऐसे गांव व टोला जहां अब तक बिजली नहीं पहुंची है इसकी समीक्षा की व विद्युत विभाग से आए प्रतिनिधि को उन क्षेत्रों को प्राथमिकता के तौर पर विद्युतीकरण से आच्छादित करने का निर्देश दिया। उन्होंने सुझाव के तौर पर बनकर तैयार हो चुके भागोडीह ग्रिड को शुरू करते हुए विद्युतीकरण से छूटे हुए गांव व टोलो को बिजली मुहैया कराने को कहा। जिले में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों की वस्तुस्थिति का भी जायजा लिया, इसी कड़ी में उपायुक्त ने बताया कि प्रखंड विकास पदाधिकारियों के द्वारा जिले में अवस्थित सभी आंगनवाड़ी केंद्रों का वेरिफिकेशन करवाया गया है इसमें कुछ आंगनबाड़ी केंद्र किराए के भवन में चल रहे हैं तथा उनके भवन निर्माण का कार्य प्रगति पर है ऐसे में भवन निर्माण का कार्य पूर्ण होते ही किराए के भवन में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को सरकारी भवन में शिफ्ट कराया जाएगा।

बैठक में भवनाथपुर विधानसभा के विधायक भानु प्रताप शाही ने केंद्रीय विद्यालय जिसे प्लस टू तक कर दिया गया है वहां प्लस टू की पढ़ाई नहीं होने, का कारण संबंधी प्रतिवेदन उपलब्ध कराने क्यों कहा तथा कृषि महाविद्यालय की वर्तमान स्थिति का भी निरीक्षण करने पर भी चर्चा की गई। श्री कृष्ण अनुमंडलीय पुस्तकालय, नगर परिषद, गढ़वा के सुदृढ़ीकरण का भी सुझाव समिति के सदस्यों के द्वारा दिया गया। उन्होंने पुस्तकालय को विकसित करते हुए जिले के युवाओं के लिए वहां पढ़ने योग्य सभी मूलभूत सुविधाएं तथा आवश्यक किताबें उपलब्ध कराने की बात कही। समिति की सदस्य दीपिका पांडेय सिंह के द्वारा पुस्तकालय को डिजिटल लाइब्रेरी के रूप में विकसित करने का सुझाव दिया ताकि महामारी की वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए ऑनलाइन क्लासेस में बच्चों को सुविधा मिल सके। सभापति के द्वारा अनुकंपा, उग्रवादी हिंसा, वज्रपात व सोन नदी में डूबने से मृत व्यक्तियों के परिजनों को अबतक मुआवजा उपलब्ध कराया गया है अथवा नहीं उक्त संदर्भ में अनुकंपा समिति के निर्णय तथा उनके द्वारा अब तक के किए गए कार्यों का भी निरीक्षण किया जिसमें पाया गया कि अधिकांश परिजनों को मुआवजा उपलब्ध कराया जा चुका है।

बैठक में झारखंड विधानसभा के सामान्य प्रयोजन समिति के सदस्यों के अलावा जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त राजेश कुमार पाठक, पुलिस अधीक्षक अंजनी कुमार झा, उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, निदेशक डीआरडीए दिनेश सुरीन, अनुमंडल पदाधिकारी गढ़वा मोहम्मद जियाउल अंसारी अनुमंडल पदाधिकारी बंशीधर नगर जयवर्धन कुमार जिले के विभिन्न विभागों से आए पदाधिकारी समेत अन्य उपस्थित थे।