मोटर लाइन से जुड़े मजदूरों को महामारी में सुविधा मुहैया कराए सरकार : संजय गोयनका

रामगढ़: रामगढ़ मोटर कामगार यूनियन अध्यक्ष सह भाकपा नेता संजय गोयनका ने बयान जारी कर कहा की कोरोना वायरस को रोकने के लिए सरकार ने सख्ती अपनाते हुए बस सेवा 16 मई से बंद करने का फैसला लिया है । सरकार के फैसले को स्वागत करता हूं । लेकिन मोटर लाइन से जुड़े सैकड़ों लोग भुखमरी के कगार पर तो पहले से ही चल रहे थे ,और जब पुनः संपूर्ण मोटर बंदी होगा तो लोग भी भुखमरी के कगार पर होंगे, ।मोटर लाइन से जुड़े एजेंट, ड्राइवर, खलासी, कंडक्टर , बस पड़ाव में दुकानदार सहित सैकड़ों लोग प्रभावित होंगे। केवल रामगढ़ को ही ले लें तो पूर्व में 200 बसें चलती थी । अभी महामारी के दौर में भी कम से कम एक सौ बसें चल रही है। सैकड़ों लोगों का पेट उसी मोटर वाहन के यातायात पर है। 16 मई से जब बंद हो जाएगा तो सैकड़ों लोग बेरोजगार हो जाएंगे ।,इसलिए सरकार और जिला प्रशासन प्रभावित लोगों के बीच राहत कार्य के भी विचार करें। और लोगों को राहत सामग्री सहित घर को चलाने के लिए आर्थिक सहयोग भी दे । जिस तरह से महामारी बढ़ रहा है ,लोग मर रहे हैं, लौक डाउन जरुरी है। लेकिन जीने की लिए भी व्यवस्था चाहिए। इसीलिए जिला प्रशासन बंदी के साथ-साथ राहत कार्य चलाने के लिए भी आगे आए। वहां पर कार्यरत वैसे मजदूर वर्ग के लोग भी हैं, जिनका प्रतिदिन वहीं से कमा कर खाते पिते हैं । बंद हो जाने से लोग भुखमरी के कगार पर चले जाएंगे। इसीलिए सरकार सभी को राहत कार्य से जोड़कर सुविधा मुहैया कराएं ।