सुदूर गांव में रहनेवाला गुलशन राष्ट्रीय स्तर पर तीरंदाज़ी प्रतियोगिता में झारखंड के करेगा प्रतिनिधित्व

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो:  वेदांता ईएसएल आर्चरी एकेडमी के स्टार एथलीट गुलशन कुमार राष्ट्रीय तीरंदाज़ी टूर्नामेन्ट में झारखण्ड का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं। गुलशन जिन्होंने फरवरी 2021 में झारखण्ड राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता था, वे बोकारो के चंदनकियारी स्थित बीकेएम इंटर कॉलेज से उच्च माध्यमिक में पढ़ रहे हैं। उन्होंने बोकारो के लोकनाथ मिशन पब्लिक स्कूल से अपनी मैट्रिक की पढ़ाई पूरी की थी।

गुलशन के पिता सेल बंसल में काम करते हैं, उनकी मां गृहिणी हैं। उनके एक भाई और दो बहनें हैं जो अभी स्कूल में पढ़ रहे हैं। दिसम्बर 2020 में लॉन्च की गई आर्चरी एकेडमी वेदांता ईएसएल की एक पहल है जो झारखण्ड में प्रतिभा एवं खेलों को बढ़ावा देती है। तीरंदाज़ी में देश के कुछ बेहतरीन प्रतिभाशाली खिलाड़ी देने वाले झारखण्ड को आधुनिक सुविधाओं स लैस एकेडमी की ज़रूरत थी, जहां युवा पूरे फोकस के साथ अभ्यास कर सकें। इसी धरोहर को पहचान कर, ईएसएल ने एकेडमी का लॉन्च किया ताकि इस क्षेत्र में मौजूद प्रतिभाशाली युवाओं को विशेषज्ञों का मार्गदर्शन मिल सके। इस वर्ष बोकारो जिला तीरंदाजी चैंपियनशिप ’21 वेदांत ईएसएल तीरंदाजी अकेडमी, सियालजोरी, बोकारो, झारखंड में आयोजित की गई थी। अकेडमी के छात्रों ने जिले में 33 और राज्य स्तर पर 8 पदक जीते।

एन.एल. वट्टे, सीईओ, ईएसएल स्टील लिमिटेड ने कहा, ‘‘ईएसएल को यह घोषणा करते हुए बेहद गर्व का अनुभव हो रहा है कि आर्चरी एकेडमी के एक प्रतिभाशाली तीरंदाज़ गुलशन कुमार झारखण्ड का प्रतिनिधित्व करने जा रहे हैं। स्थानीय प्रतिभा को बढ़ावा देने के हमारे प्रयास अब कारगर होने लगे हैं और यह हमारे लिए बेहद खुशी की बात है। हम प्रतिभाशाली तीरंदाज़ों में प्रतिस्पर्धा की भावना को बढ़ावा देना चाहते हैं। वे अपने गांव के दायरे से बाहर निकलकर राज्य और फिर राष्ट्रीय स्तर पर चैम्पियनशिप्स में हिस्सा लेने के लिए तैयार हैं। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।’’

इस अवसर पर गुलशन कुमार ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि मुझे नेशनल गेम्स में अपने राज्य का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है। मैं वेदांता ईएसएल आर्चरी एकेडमी के प्रति आभारी हूं, जिनके सहयोग से ही मैं यहां तक की यात्रा तय कर पाया और अब नेशनल गेम्स तक पहुंच गया हूं। यह आधुनिक एकेडमी हमारे राज्य में तीरंदाज़ी को बढ़ावा देने की दिशा में उल्लेखनीय प्रयास है, राज्य को इस खेल के लिए जाना जाता है। एकेडमी में कुछ अनुभवी कोच हैं जिन्होंने हमें मार्गदर्शन दिया और इतने कम समय में यहां तक पहुंचने में मदद की है। मुझे उम्मीद है कि मैं नेशनल गेम्स में अच्छा प्रदर्शन करूंगा और झारखण्ड का नाम रौशन करूंगा।’’

यह आधुनिक एकेडेमी सभी सुविधाओं से युक्त है जैसे आवास, डाइनिंग, जिम, आर्चरी किट, यूनिफॉर्म, चिकित्सा सुविधा। यहां विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में युवाओं को मार्गदर्शन दिया जाता है। वेदांता ईएसएल की इस पहल के माध्यम से बोकारो को बच्चों और युवाओं को अपने तीरंदाज़ी कौशल में सुधार लाने और इस क्षेत्र में उज्जवल भविष्य बनाने का मौका मिलेगा।

गुलशन की अब तक की उपलब्धियां
-ज़िला स्तर पर 2 स्वर्ण और 6 रजत पदक जीते
-मणिपुर और आन्ध्र प्रदेश में राज्य स्तरीय मैच खेले और दोनों में एक स्वर्ण और एक कांस्य पदक जीता है।