गुमला जिले में नही रूक रहा बालू का अवैध कारोबार, प्रशासन मौन

गुमला से बसंत गुप्ता

गुमला। जिले में बालू का अवैध कारोबार रुकने का नाम नहीं ले रहा है।सरकार और प्रशासन बालू के अवैध कारोबार को रोकने के लिए एक तरफ कई दिशा निर्देश जारी कर रहे हैं लेकिन स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं पुलिस प्रशासन तथा खनन विभाग के मिलीभगत से प्रत्येक दिन सैकड़ों हजारों की संख्या में ट्रक हाईवा एवं ट्रैक्टर से बालू की अवैध निकासी गुमला जिले के कई नदी घाटों से हो रही है इसे रोक पाने में खनन विभाग असमर्थ साबित हो रहा है जानकार सूत्रों का कहना है कि खनन विभाग के द्वारा बालू के अवैध कारोबार करने वालों से पैसे की उगाही की जा रही है। गुमला जिले के दक्षिणी कोयल नदी नागफेनी के विभिन्न नदी घाट शंख नदी के साथ ही सिसई भरनो बसिया कामडारा घाघरा बिशुनपुर पालकोट रायडीह डुमरी चैनपुर जारी गुमला सभी प्रखंडों में बालों की अवैध निकासी का कारोबार ट्रैक्टर एवं हाईवा के संचालक बेरोकटोक कर रहे हैं पुलिस प्रशासन के द्वारा कभी-कभी बालू के अवैध कारोबार को रोकने के लिए छापेमारी अभियान चलाई जाती है लेकिन फिर पुलिस का यह अभियान भी बंद हो जाता है जानकार सूत्रों का कहना है कि विभागीय दबिश के कारण यह है कि समय-समय पर विभाग के आला अफसरों को चढावा मिलता रहे इसलिए छापामारी अभियान की जाती है पहले की तरह छोड़ दिया जाता है। पिछले दिनों सिसई विधानसभा क्षेत्र के विधायक जिगा सुसारन होरो उर्फ़ जिगा मुंडा के द्वारा गुमला के उपायुक्त तथा खनन विभाग के पदाधिकारी से मिलकर मांग पत्र सौंपी गई थी और खनन कार्यों में अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ में कार्रवाई की मांग की गई थी लेकिन अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं हुआ है।