आपसी रंजिस मे फुफेरे भाई ने की थी हरिहर की हत्या, पूरे मामले का पुलिस ने किया उद्भेदन

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो/कसमार : बीते 19 जुलाई को घर से गायब हुए पोंडा पंचायत के धधकिया निवासी महादेव रजवार के 22 वर्षीय पुत्र हरिहर कपरदार की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। हरिहर हत्याकांड में कसमार थाना की पुलिस ने हत्यारे वीरेंद्र, उसके दोस्त महेश महली और नरेश साव को गिरफ्तार कर लिया। इस बावत हत्याकांड का खुलासा करते हुए जरीडीह सर्किल इंस्पेक्टर मोहम्मद रुस्तम और थाना प्रभारी राजेश रंजन ने बताया कि हरिहर कपरदार की हत्या आपसी रंजिश में हुई थी। उसकी हत्या 19 जुलाई की रात जरीडीह थाना क्षेत्र के बांधडीह निवासी वीरेंद्र रजवार ने अपने दो साथी नरेश साव और महेश महली के साथ मिलकर की थी।
युवक के लापता होने के पांच दिन बाद 24 जुलाई को घर से एक किलोमीटर दूर एक खेत के कुएं से हरिहर का शव बरामद हुआ था। शव प्लास्टिक के बोरे पत्थर बांधकर कुएं मे डाल दिया गया था।
पुलिस ने बताया कि वीरेंद्र अपने मामा घर धधकिया गांव आकर रहता था। हरिहर भी गांव का होने के नाते रिश्ते में फुफेरा भाई लगता था, पर वीरेंद्र की आदत उसे पसंद नहीं थी। वीरेंद्र के चाल-चलन का हमेशा हरिहर विरोध करता था। इस बीच वीरेंद्र और हरिहर के बीच कई बार कहासुनी सुनी और मामला मारपीट तक भी पहुंचा था। वीरेंद्र कई दिनों से बदला लेने की ताक में। वीरेंद्र ने 19 जुलाई की रात धधकिया गांव पहुंचकर हरिहर को घर से बुलाया, इसके बाद अपने दो साथी महेश महली और नरेश साव की मदद से उनके ही गमछे से हरिहर का गला दबाकर हत्या कर दिया। हत्या करने के बाद शव को घसीटते हुए धधकिया गांव के खिलकनारी कुआं के पास ले जाकर हाथ को रस्सी से बांधकर बोरे में पत्थर डालकर कुआं में डाल दिया। हत्यारों के पास तीन मोबाइल, एक मोटरसाइकिल भी पुलिस ने जब्त किया है। विदित को कि हरिहर हत्याकांड की गुत्थी बोकारो पुलिस जल्द सुलझाए इसको लेकर स्थानीय मीडिया में लगातार मामला उठा रहा था।

एसआइटी को मिली सफलता : बोकारो पुलिस ने हरिहर हत्याकांड की जांच के लिए एसआइटी का गठन किया था। तकनीकी शाखा की मदद लेकर एसआइटी ने हत्या में संलिप्त अपराधियों को गिरफ्तार किया। टीम में जरीडीह इंस्पेक्टर मो रुस्तम, कसमार थाना प्रभारी राजेश रंजन, एसआइ अनिल कुमार, रोहित कुमार, राजकमल, एएसआइ भोला मुंडा तकनीकी शाखा के चंदन कुमार मिश्रा, भागीरथ महतो, दिलीप कुमार ठाकुर, निताई चंद्र रजवार शामिल थे।

अपराधियों को मिले कड़ी सजा

शुक्रवार को हरिहर हत्याकांड का खुलासे के बाद हरिहर कपरदार के घर वालों ने अपराधियों पर कठोर से कठोर कार्रवाई करने की मांग पुलिस प्रशासन से की है। हरिहर कपरदार के पिता महादेव रजवार और मां सावित्री देवी ने बेटे की हत्या करने वालों को आजीवन कारावास की मांग जिला पुलिस से की है। स्वजनों ने कहा कि बेटा गांव में सभी के साथ मिलकर रहता था। किसी से बेवजह बात नहीं करता था। इसके बाद भी इन लोगों ने बेटे को हमसे छीन लिया।