सात करोड़ की लागत से बना स्वास्थ्य केन्द्र सरकारी उदासीनता का दंश झेलने को मजबूर

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो: एक तरफ कोरोना महामारी पूरे देश मे कोहराम मचा रखा है। ज़िला प्रशासन कोविड वार्ड बनाने के लिए निजी अस्पतालों का भी इस्तेमाल कर रहा है ताकि कोरोना संक्रमित मरीजों को समुचित इलाज़ मिल सके। लेकिन बोकारो ज़िले के बेरमो के गांधीनगर में लगभग सात करोड़ की लागत से बना स्वास्थ्य केंद्र सरकारी उदासीनता का दंश झेल रहा है। यह केंद्र अपने निर्माण के चार साल बाद भी उद्घाटन की बांट जोह रहे है। इस स्वास्थ्य केंद्र के परिषर में ही चिकित्सकों एवं स्वास्थ्यकर्मियों के लिए आवास का भी निर्माण कराया गया है। लेकिन इस महामारी काल मे इसका इस्तेमाल नही होना विभाग की घोर लापरवाही है। जबकि कोरोना के प्रथम लहर में ही इस इलाके के कई लॉगऑन ने अपनी जान गवाई है। ऐसे में इस ओर ना तो प्रशासन की नज़र गई और ना ही जनप्रतिनिधियो की सभी इस ओर से आंखे मूंद रखी है। जबकि स्थानीय लोग इसे जल्द शुरुआत होने की आस लगाए हुए है वो चाहते है कि इसे भी कोविड सेन्टर बनाया जाय ताकि स्थानीय लोगो को इसका लाभ मिल सके। अब देखने वाली बात होगी कि स्वाथ्य महकमा कब इस ओर नज़रे इनायत करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *