हेमंत सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए भाजपा ने की सरकार को बर्खास्त करने की मांग

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा का पोल खोल अभियान शुरू

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला: भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शिवशंकर उरांव ने परिसदन गुमला में प्रेसवार्ता का आयोजन किया और हेमंत सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए तत्काल सरकार को बर्खास्त करने की मांग झारखंड के राज्यपाल से की गई। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार के 1 साल के कार्यकाल में जनता तबाह हो गई है भ्रष्टाचार चरम सीमा पर चला गया है लूट बलात्कार एवं हत्या की घटना में वृद्धि हुई है रोजगार के नाम पर हेमंत सरकार के द्वारा झूठ का पुलिंदा चुनावी मुद्दा में शामिल किया गया था सरकार गठन के 1 वर्ष बाद भी झारखंड के स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिल सका है जबकि हेमंत सरकार ने चुनावी गठबंधन में 500000 लोगों को रोजगार नौकरी देने का वादा किया था लेकिन 1 साल के बाद 5 लोगों को भी नौकरी नहीं दी जा सकती है उन्होंने कहा कि महागठबंधन की हेमंत सरकार चुनावी मुद्दा के सभी एजेंडे पर विफल साबित हुई है ऐसी निकम्मी सरकार को उखाड़ फेंकने की जरूरत है। महागठबंधन के चुनावी एजेंडा में अनुबंध कर्मी पारा शिक्षक एवं रोजगार सेवकों को स्थायीकरण करने एवं नियमित मानदेय के लिए सरकार बनते ही कार्य करने का आश्वासन दिया गया था लेकिन अभी तक अनुबंध कर्मियों के स्थायीकरण एवं वेतनमान निर्धारण के लिए हेमंत सरकार के द्वारा कोई भी ठोस पहल नहीं किया गया है।प्रेस वार्ता में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक गंगोत्री कुजूर ने संबोधित करते हुए कहा कि राज्य की हेमंत सोरेन की सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिला है।
जिला अध्यक्ष अनुपचंद अधिकारी ने कहा कि हेमंत सरकार के वादाखिलाफी को देखते हुए भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के द्वारा पूरे राज्य में पोल खोल अभियान का आयोजन किया जा रहा है जिसके तहत मंडल स्तर पर धरना प्रदर्शन का आयोजन भी की जा रही है प्रेस वार्ता में मीडिया प्रभारी अरविंद मिश्रा महामंत्री सत्यनारायण पटेल संजय साहू जिला उपाध्यक्ष सुजीत कुमार नंद चितरंजन मिश्रा समेत अन्य कई लोग मौजूद थे।