बोहरा काली मंदिर के प्रथम पुजारी बने हेमंत सोरेन

– विधायक प्रदीप यादव के पैतृक गांव में मां काली की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री एवं ग्रामीण विकास मंत्री

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: पोड़ैयाहाट के विधायक प्रदीप यादव के पैतृक गांव बोहरा में नवनिर्मित मां काली मंदिर में प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा समारोह वैदिक मंत्रोच्चार के बीच संपन्न हुआ। उद्घाटन एवं प्रतिमा के अनावरण के मौके पर शनिवार को मुख्य अतिथि के रूप में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने उपस्थित होकर सर्वधर्म समभाव का उदाहरण पेश किया। नवनिर्मित मां काली मंदिर के प्रथम पुजारी बनने का सौभाग्य मुख्यमंत्री को हासिल हुआ।
नवनिर्मित मंदिर के उद्घाटन एवं मां काली प्रतिमा के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के मौके पर गांव का माहौल काफी उत्सवी था। इस मौके पर अपने संक्षिप्त संबोधन में मुख्यमंत्री श्री सोरेन ने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि इस धार्मिक आयोजन में आ पाऊंगा। सुबह अचानक तबीयत खराब हो गई थी। लेकिन मां काली का आशीर्वाद मिलना था, इसलिए चला आया।मुख्यमंत्री ने कहा कि मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा किसी एक व्यक्ति के लिए नहीं सबके लिए होता है। अमीर, गरीब सबके लिए होता है। आशीर्वाद उसे ही मिलता है, जिसकी श्रद्धा सच्ची होती है।
मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य के ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि हर एक धर्म एवं मजहब हमें अच्छी शिक्षा देते हैं। सभी धर्म में अधर्म का नाश का सार छुपा हुआ है। मां काली के मंदिर में आकर हमें महसूस हो रहा है कि समय-समय पर आसुरी शक्तियों का नाश करने के लिए देवी देवता एवं पैगंबर आते हैं। हम मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा बनाते हैं जिसका सार यह है कि हमें उनके रास्ते पर चलना चाहिए। श्री आलम ने कहा कि कोई धर्म नफरत की बात नहीं करता, बल्कि भाईचारे की बात करता है।
अपने पैतृक गांव में आयोजित धार्मिक समारोह में मुख्यमंत्री एवं ग्रामीण विकास मंत्री की उपस्थिति से विधायक प्रदीप यादव काफी आह्लादित थे। उन्होंने मुख्यमंत्री की ओर इशारा करते हुए कहा कि आप कितने सहज, सरल एवं समर्पित हैं, इसका एहसास आपकी उपस्थिति से ही हो जाता है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से निपटने में हेमंत सोरेन सरकार को 100 में 100 नंबर आया। पूरे देश में झारखंड की व्यवस्था सबसे उत्कृष्ट रही। उन्होंने कहा कि काली मां की प्रतिमा के अनावरण में मंत्री आलमगीर आलम की उपस्थिति भारत की असली संस्कृति का परिचायक है।
समारोह में विधायक श्री यादव ने मुख्यमंत्री श्री सोरेन एवं मंत्री श्री आलम को स्मृति चिन्ह भेंट किया। मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि समेत अन्य अतिथियों को अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। मंच पर महागामा के पूर्व कांग्रेस विधायक राजेश रंजन, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष दिनेश यादव, झामुमो की केंद्रीय समिति के सदस्य राजेश मंडल एवं घनश्याम यादव, झामुमो के जिला सचिव वासुदेव सोरेन, गोड्डा नगर परिषद की उपाध्यक्ष वेणु चौबे, जिला परिषद के उपाध्यक्ष निरंजन पोद्दार, अजीत कुमार महात्मा, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष सोनी झा, पुष्पेंद्र टुडू, एस आलम आदि मौजूद थे। मंच संचालन कांग्रेस नेता धनंजय यादव कर रहे थे। मुख्यमंत्री के आगमन से पूर्व उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक ने नवनिर्मित काली मंदिर का निरीक्षण करते हुए व्यवस्था का मुआयना किया।