कर्रा हाई स्कूल मैदान में आयोजित विधिक जागरुकता सह सशक्तिकरण शिविर में पहुंचे हाइकोर्ट के जस्टिस एसएन पाठक

खूंटी: आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर हाई स्कूल मैदान पर ‌जिला प्रशासन ‌द्वारा विधिक जागरुकता‌ सह सशक्तिकरण शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में मुख्य अतिथि झारखंड हाईकोर्ट के न्यायाधीश डॉ एस एन पाठक एवं धर्मपत्नी ‌उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्य अतिथि न्यायाधीश डॉ पाठक ने अपने संबोधन में उपस्थित लोगों को जोहर करते हुए कहा कि इस कर्रा मैदान मे 90 प्रतिशत महिलाओं की उपस्थिति दिख रही है। जो महिला सशक्तिकरण का जीता जागता उदाहरण है। झालसा द्वारा आयोजित कार्यक्रम का मुख्य उदे्श्य नारी सशक्तिकरण है। उन्होंने कहा कि महिलाइन पुरुषों पर निर्भर रहती हैं। इसलिए वे प्रताड़ना की शिकार होती हैं। महिलाओं को अब इंसाफ के।लिए भटकने की जरूरत नहीं हैं। महिलाओं की परेशानियों को दूर करने के लिए जिला प्रशासन और न्यायपालिका एक साथ आगे आया है। न्याय केवल अमीरो को नही‌ मिलता न्याय दबे कुचले आदिवासियों को भी मिलता है। न्याय आप सबो के उत्थान के लिए है। महिलाए अबला बनकर पुरुषो द्वारा शोषित होते आ रही है, महिलाओं को अब जागरुक होकर पुरूषो से कंधा से कंधा मिलाकर चलना होगा। आज भी रांची, खूंटी, गुमला, सिमडेगा, लोहरदगा जिले में डायन प्रथा बहुत अधिक है. महिलाएं ही कुप्रथा को समाप्त कर सकती हैं। आप अपने अधिकार के लिए डीसी, एस पी एवं अन्य ‌पदाधिकारियो से निर्भिक होकर मिले। शिविर में करीब दो करोड़ की परिसम्मपतियों का वितरण किया गया। डिस्ट्रीक प्रिंसिपल जज ने कहा धरती आबा बिरसा मुंडा महान भूमि मे आजादी के 75 वां अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। जिला विधिक सेवा अध्यक्ष होने के नाते केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाएं‌ जा रहे योजनाओ‌ से जागरुक करते रहुंगा। बिरसा मुंडा के क्षेत्र के युवाएं उनका पथ पर ना चलकर अफीम का जहड़िला खेती करने मे‌ लगे हैं। लेकिन जिला पुलिस प्रशासन के अथक प्रयास के बाद मूरहू एंव अन्य जगहो पर लेमनग्रास ‌की खेती को बढावा, एंव कुटीर उद्योग लगाने का काम कर अच्छी पहल‌ कर रहा है। कार्यक्रम में छाऊ नृत्य, डायन प्रथा के अलावे कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय कर्रा के छात्राओं द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नाटक से सभी उपस्थित लोगो के आंखो मे आंसू डबडबा गया। कलाकार छात्राओं ने बेहतर तरिके से भ्रूण हत्या के मध्यम से बतलाया कि बेटी नही होगी तो संसार समाप्त हो जाएगा। बेटा शान है तो बेटी आन, बेटी ही देवी, दुर्गा, काली, और महाचंडी हैं. शिविर में प्रखंड व जिला के सभी विभागों द्वारा लगाया गया प्रदर्शनी स्टाॅल का लोगों ने खुब लुप्त उठाया. कार्यक्रम का अध्यक्षता खुंटी जिला उपायुक्त शशी रंंजन व धन्यवाद ज्ञापन पुुुलिस अधिक्षक खूंंटी आषुतोष शेखर ने किया। कार्यक्रम में जिला व प्रखंड प्रशासन के पदाधिकारी, कर्मचारी के साथ लगातार ‌हो रही बारिश के बावजूद भी हजारो की संख्या पर ग्रामीण उपस्थित रहे।