हुजूर आते आते बहुत देर कर दी, प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद प्रशासन के निगाह में विस्थापित दलित परिवार को स्वास्थ्य जांच करने पहुंचे चिकित्सक

पॉच दिन पूर्व झारखंड लेटेस्ट न्यूज ने प्रमुखता से खबर चलाया था
जातमाड़ा से राज किशोर सिंह की रिपोर्ट
जामताड़ा : शहर के दुमका रोड स्थित आश्रय गृह में दो माह से अधिक समय से शरणार्थी का जीवन जी रहे दलित परिवार का गुरूवार को मेडिकल चेकअप किया गया। शरणार्थियों में एक बुजुर्ग महिला के पैर में चोट आई थी। जिसकी सूचना जिला प्रशासन को दी गई। उसके बाद मेडिकल टीम भेजकर दलित परिवारों के 16 सदस्यों का स्वास्थ्य जांच किया गया। बता दें कि पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया था कि इनके इलाज के लिए कोई प्रबंध नहीं किया जा रहा है। वही परिवार की एक वृद्ध महिला के पैर में फ्रेक्चर होने की जानकारी दी गई थी। प्रशासन के निर्देश पर एसीएमओ डॉ एसके मिश्रा जिला महामारी पदाधिकारी डॉ अजीत कुमार दुबे मेडिकल टीम के साथ पहुंचे। इस दौरान सभी का स्वास्थ्य परिक्षण किया गया।

बीमार बच्चें और बुजुर्ग महिला को दी गई दवा मास्क सैनिटाइजर भी सबको कराया मुहैया

मेडिकल टीम की ओर से रूटीन चेकअप के साथ बुजुर्ग महिला के पैर का इलाज किया गया जिसमें फ्रैक्चर नहीं पाया गया है। महिला को दवा दी गई है। वहीं दो छोटे बच्चों को बुखार था जिसे दवा दिया गया है। साथ हीं आश्रय गृह में रह रहे 14 लोगों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया है। साथ हीं सभी मास्क और सैनिटाइजर मुहैया कराया गया है। जिला महामारी पदाधिकारी ने बताया कि दो बच्चें बुखार से पीड़ित थे और बुजुर्ग महिला जिनके पैर में चोट थी उन्हें दवा दी गई है। 14 लोगों का सैंपल लिया गया है और वैक्सीनेशन के लिए भी जागरूक किया गया है। मौके पर सीएचओ आदित्य कुमार एलटी बिजय कुमार सहित अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *