15 दिनों में विद्युत व्यवस्था नहीं सुधरी तो सरायकेला वासियों के साथ आंदोलन के बाद लिए बाध्य होऊंगा: नप उपाध्यक्ष

सरायकेला। क्षेत्र में निरन्तर जारी अनियमित विद्युत आपूर्ति व्यवस्था को नियमित करवाने को लेकर नगरपंचायत उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता मनोज कुमार चौधरी ने कमर कस ली है। उन्होंने इस संदर्भ विभागीय पदाधिकारियों से निरन्तर सम्पर्क करने के बाद अब उपायुक्त को आवेदन देकर विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में सुधार करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि अगर 15 दिनों के मध्य व्यवस्था में सुधार नही होती तो सरायकेला की जनता के साथ जनांदोलन करने को बाध्य हो जाएंगे। उपायुक्त को लिखे आवेदन में उन्होंने कहा है कि वर्तमान वैश्विक महामारी और मुश्किल घड़ी के दौरान पिछले 2 माह से थोड़ा सा हवा, पानी आने के उपरांत सरायकेला नगर एवं आसपास के क्षेत्रों में विद्युत सेवा ठप हो जाती है। जिससे विभाग और विभाग के कर्मियों की दक्षता और कार्यशैली में प्रश्न चिन्ह पैदा करती है। विद्युत सेवा आवश्यक सेवा की श्रेणी में आती है (ESSENTIAL SERVICES MAINTENANCE ACT, 1968) आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून के अनुसार ग्राहक को निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करना है। लेकिन विद्युत आपूर्ति व्यवस्था लचर होने के कारण आम जनजीवन प्रभावित हो रहा है। कोरोना महामारी और स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की बंदिशों की वजह से अधिकतर आम लोग घर में क़ैद हैं। वर्तमान उमस भरी गर्मी में और मुश्किल परिस्थिति में तनाव मुक्त जीवन यापन के लिए बिजली और पानी की नितांत आवश्यकता है। वही स्कूल बंद होने के कारण अधिकतर बच्चे ऑनलाइन क्लासेस कर रहे हैं उनको भी बिना बिजली के कारण पढ़ाई में असुविधा हो रही है। बिजली कटने के कारण न चाहते हुए भी लोग घरों से बाहर निकलने को मजबूर हैं जिससे कोरोना फैलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। प्रतिदिन शाम और रात के समय और किसी दिन पूरे दिन भर अनियमित बिजली कटौती से लोगों को बहुत सारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिससे लोगों में भारी आक्रोश है। यदि किसी कारणवश बिजली बाधित होती भी है तो बिजली विभाग द्वारा उसकी समुचित जानकारी न तो बिजली विभाग देता है न ही किसी प्रकार सूचित करता है बिजली बाधित होने की जानकारी मिलने पर लोगों को राहत महसूस हो सकती थी। वर्तमान परिस्थिति की नजाकत को ध्यान में रखते हुए निर्बाध बिजली आपूर्ति हेतु आवश्यक समुचित कदम उठाने का कृपा करें।