बरही में भारी बारिश व तूफान से कहीं पेड़ उखड़े तो किसी का उजाडा आशियाना

संवाददाता बरही
बरही (हजारीबाग) : बरही में पिछले चार दिनों से रिकॉर्ड तोड़ बारिश का आलम है। जिससे जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कई कच्ची पक्की मार्ग जलमग्न हो गए हैं। खेत, ताल – तलैया में लबालब पानी भर गया है। बिजली व्यवस्था भी चरमरा गई। विद्युत विभाग को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है। वहीं शुक्रवार रात्रि में भारी बारिश व तूफान ने कहीं पेड़ उखाड़े तो किसी का आशियाना उजाड़ दिया। बरही तिलैया रोड स्थित राजेश साहू के मकान पर लिप्टस का पेड़ गिर गया, जिससे मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। प्रधान प्रतिनिधि दिनेश साहू ने बताया कि राजेश साहू के घर को काफी नुकसान हुआ वहीं प्रशासन से उचित मुआवजा का मांग किया। वही कोनरा थाना मुहल्ला में मोसोमात समीना खातून का खपरैल मकान गिर गया। समाजसेवी रिजवान अली ने बताया कि महिला को अब रहने का भी मकान नहीं बचा। घर गिरने से सूखा अनाज तक नष्ट हो गया है। तिलैया बस्ती में दिनेश रविदास, अवतारी रविदास व बधिय्या जबाड़ के समसुद्दीन अंसारी का घर ध्वस्त हो गया। स्थानीय कोलुआकला मुखिया प्रियंका देवी प्रतिनिधि टेकलाल यादव ने निरीक्षण करते हुए मुआवजा का मांग रखा। पंचमाधव पंचायत के कोलंगा ग्राम निवासी मसोमात कौशल्या का खपरैल मकान गिर कर क्षतिग्रस्त हो गया। धनवार के सोनिया देवी का खपरैल मकान पर एक विशाल पेड़ गिर गया जिससे घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया वह भी बेघर हो गई।वहीं सभी ने प्रशासन से उचित मुआवजा का गुहार लगाया है।

बरही में भारी बारिश का आंकड़ा :
बरही : बरही में भारी बारिश का आंकड़ा की जानकारी देते हुए बीएओ सह एमओ आजाद सिंह ने बताया कि 29 जुलाई को 75.4 मिलीमीटर, 30 जुलाई को 43.04 मिलीमीटर व 31 जुलाई को 102.06 मिलीमीटर वर्षा दर्ज किया गया है। जो रिकॉर्ड बारिश है।