इलाज छोडकर झाड़फूंक कराता रहा परिवार , चारपाई मे कट रहा था जिन्दगी, आगे आया सुमिता होता फाउण्डेशन

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: बंदगाँव प्रखंड के लाण्डुपदा गाँव के गब्बर सिंह दोराई झाडफूंक के चक्कर मे 13वर्ष से बीमारी के कारण घर के चारपाई मे जीवन काट रहा था । जब इस बात का जानकारी राजाफारम के युवा समाजसेवी कुश पुरती एवं बाबूलाल सरदार को चला तो उन्होंने सुमिता होता फाउण्डेशन के अध्यक्ष सदानन्द होता से मिलकर बताया । श्री होता ने बीना देर किये अस्पताल मे लाने को कहा । आज सुबह कुश पुरती और बाबुलाल सरदार ने 108 एम्बुलेंस से लेकर अनुमडंल अस्पताल पहुंचे , सदानन्द होता भी अस्पताल मे मौजूद थे । सदानन्द होता ने बताया की गब्बर सिंह दोराई जब 19 वर्ष के आयु का था तब से चलने मे कठिनाई हुई तथा धीरे धीरे कमर के नीचे काम करना बन्द कर दिया अभी उसका हालत बहुत ही चिन्ता जनक है तथा बीना इलाज के उसका हाथ पाँव तथा शरीर पुरा सुख गया नाखून और बाल भी बढ गया है । डाक्टर नन्दू होनहागा ने जाँच के पश्चात गब्बर के हालत को देखते हुए कहा कि पहले सिलाइन चढाने तथा ब्लड का जाँच के लिए भेजा गया । जैसे ही थोडा भी शारिरीक सुधार होता है उसे बेहतर इलाज के लिए भेजा जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *