‘आषाढ़ी पूजा मे’, ग्रामीणों द्वारा पारंपरिक रीति रिवाज के अनुसार बकरों एवं मुर्गो की बलि दी

आषाढ़ी पूजा – खेत में बेहतर फसल एवं उपज हो एवं गांव में सुख समृद्धि और शांति की कामना की।

रजरप्पा: रखंड की प्राचीनतम संस्कृति से जुड़ा पौराणिक काल से चली आ रही आषाढ़ी पूजा को चितरपुर प्रखंड अंतर्गत छोटकीपोना में रविवार को काफी धूमधाम से आषाढ़ी पूजा अर्चना की गई। पूजा अर्चना के दौरान गांव के ग्राम देवता मंडे एवं कई सरना स्थल पर प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी द्वारा पूजा अर्चना की गई इस दौरान गांव के पुजारी कजरू पहान, फूलचंद महतो, लालटू महतो, दशरथ बेदिया, गुनी महतो द्वारा पूरे विधि विधान से पूजा-अर्चना की गई साथ ही गांव में बेहतर फसल की उपज और कहां पर निवास करने वाले सभी की सुख समृद्धि की कामनाएं की गई साथ ही गांव के लोगों द्वारा पारंपरिक रीति-रिवाज एवं गाजे-बाजे के साथ अनुसार पूजा-अर्चना कर कई बकरों एवं मुर्गो की बलि भी दी गई। गांव के पहान और ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्र की सुख-समृद्धि और अच्छी फसल के लिए प्रत्येक वर्ष साल में एक बार आषाढ़ी पूजा काफी धूमधाम से की जाती है। इस अवसर पर ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष योगेश कुमार महतो सचिव मिथिलेश कुमार महतो एवं कोषाध्यक्ष पिंटू कुमार सहित बोरोबिंग पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि सह समाजसेवी महानंद ,अशोक राम बेदिया, मुकेश महतो मनोज कुमार महतो दिलीप महतो निर्मल महतो, पारसनाथ महतो, बढ़न राम दांगी, प्रेमनाथ महतो, सुनील कुमार, मोतीलाल करमाली सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।